आरोग्यनिजी सीक्रेटपुरुष स्वास्थमहिला स्वास्थसंबंधसलाह / मार्गदर्शन

जिस महिला से दूसरी शादी करने की फिराक में पापा है। वह मुझे बिल्कुल पसंद नहीं। 

मै कॉलेज में पढ़नेवाली छात्रा हु। जिस महिला से दूसरी शादी करने की फिराक में पापा है। वह मुझे बिल्कुल पसंद नहीं। 

कोरोना से माँ गुजर गई है। मेरी और मेरे भाई की जिम्मेदारी पापा पर आ गई है। ऐसे में पापा को भी तो एक

साथी की जरूरत है। उनकी देखभाल के लिए हम भी चाहते है, की उन्होंने दूसरी शादी करनी ही चाहिए।

मगर अचानक उन्होंने हमारे एक रिश्तेदार महिला से शादी करने का फैसला कर लिया है। दरअसल वह महिला

बहुत स्वार्थी स्वभाव की है। सब लोगों में ऐसी भी चर्चा है, की उसने अपने पति का बहुत बुरा हाल किया था।

उसकी फिक्र भी नहीं करती थी। कहीं ऐसी हालत हमारे पापा की न हो, इसलिए मै नहीं चाहती की उस महिला

से पापा शादी करें। मगर पापा को कैसे समझाऊ? सभी रिश्तेदार उनके पक्ष में है। मै क्या करू बताइए

हमारी सलाह : जिस महिला से दूसरी शादी करने की फिराक में पापा है। वह मुझे बिल्कुल पसंद नहीं। 


पहले जीवनसाथी के चले जाने के बाद, दूसरी शादी करना कोई गुनाह नहीं है।

अगर बच्चे बड़े हैं तो यकीनन, उन्हें यह फैसला पसंद नहीं होगा।

अकेले जीवन जीना, हर किसी को मुश्किल लगता है। बेशक, परिवार में कितने ही सदस्य क्यों ना हो। 

लेकिन जीवनसाथी की जगह, कोई नहीं ले सकता।

कई बार दुर्भाग्यवश, जीवनसाथी असमय ही साथ छोड़ कर चला जाता है। 

यदि पत्नी की मृत्यु के बाद, कोई व्यक्ति दूसरी शादी करना चाहता है। 

तो यह बिल्कुल, उसका निजी फैसला है।

लेकिन यह बहुत ही ज्यादा, सोच समझ कर लेने वाला फैसला है। 

यह फैसला, आपकी और आपके बच्चों की उम्र पर भी  निर्भर करता है।

 अगर आपके पिता भी, ऐसे ही कदम उठाने जा रहे हैं। और आपको यह, बिल्कुल पसंद नहीं है।

 तो आजमाएं, ये टिप्स…

आखिर इस उम्र में बच्चों को पिता की दूसरी शादी, क्यों नहीं पसंद होती है?


भावनात्मक वजह 


अक्सर कोई भी संतान, अपनी मां की जगह किसी दूसरे को देना नहीं चाहती है। 

फिर चाहे वह उनके पिता की, दूसरी शादी की पत्नी ही क्यों ना हो।

अपनी मां के प्रति भावनात्मक लगाव के कारण, वह पिता के साथ सहमति नहीं देते।

 विचारधारा 


सौतेली मां के बुरी होने का विचार, हर किसी के मन में होता है।

क्योंकि, यह धारणा बनी आ रही है।  हालांकि काफी हद तक, ऐसा देखा भी जाता है।

ऐसे में बच्चों का, इस फैसले के खिलाफ होना जायज है।

 आर्थिक विषय 


कई बार पिता की दूसरी शादी के बाद, बच्चों को प्रॉपर्टी में हक नहीं मिलता। वह आर्थिक रूप से,

बिल्कुल लाचार महसूस करते हैं। उन्हें लगता है कि उनकी नई मां, सारी प्रॉपर्टी हड़पने की लेगी। 

 इस वजह से ही वे, अपने पिता की दूसरी शादी नहीं होने देना चाहते हैं। 

 सामाजिक प्रभाव


21 साल की उम्र तक बच्चे को, समाज की हर बात समझ आने लगती है।

 उन्हें डर होता है कि, समाज के तानो का सामना करना पड़ेगा। 

या फिर उनके दोस्त, मजाक उड़ाएंगे।

 इसी हीन भावना की वजह से, वह नहीं चाहते कि उनके पिता ऐसा करें। 

पिता का दूसरी शादी करना नहीं पसंद, तो अपनाएं ये तरीके


पिताजी से करें बातचीत

 इस विषय पर कोई भी, झगड़ा करने की जगह  बातचीत ज्यादा सही रास्ता है।

 उन्हें बताएं कि आखिर क्यों आपको, उनका दूसरी शादी करना पसंद नहीं है। 

 माना कि अभी, बहुत जिंदगी बाकी है।  वे अपना जीवन अकेले, व्यतीत नहीं कर सकते।

लेकिन आपकी उम्र के हिसाब से, उन्हें यह फैसला बदलना होगा।

 इसलिए आप उनसे, संवेदना व्यक्त करते हुए ही बातचीत करें।

 किसी भी वार्तालाप में, विरोध का स्वर ना आने दे।

करें दादा दादी से बात 

 अब अगर आपके पिता, नहीं मान रहे हैं। 

तो आपके लिए तो हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट, आपके दादा-दादी ही हो सकते हैं। 

आप इस विषय से, अपने दादा दादी को अवश्य अवगत कराएं।

हो सकता है उनकी दखलअंदाजी, आपकी समस्या को हल कर दे।

पिता के फैसले का कारण भी जाने

यदि आप लड़की है।  तो क्या आपको नहीं लगता कि, आपके पिता को दूसरी शादी कर लेनी चाहिए। 

क्योंकि आप तो शादी के बाद, ससुराल चली जाएगी। 

ऐसे में आपके पिता का ख्याल रखने वाला, कोई नहीं होगा।

 यदि आप लड़के हैं, तो आपके आपको अपने पिता को आश्वासन देना होगा।

 कि आप उनका, अच्छे से ख्याल रखेंगे। उन्हें किसी तरह का अकेलापन महसूस नहीं होगा।

 क्योंकि हो सकता है, अकेलापन ही उनकी दूसरी शादी की वजह हो।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.