तनावनिजी सीक्रेटरहन सहनलाईफ स्टाइलसंबंध

कोई लड़की मुझसे प्यार नहीं करती। मैं डिप्रेशन में हूं।

कोई लड़की मुझसे प्यार नहीं करती। दोस्त भी खुदगर्ज है। घरवाले कोसते रहते है। पैसे भी नहीं है। मैं डिप्रेशन में हूं। स्वयं को कोसता हूं और लगता है मैं अति सामान्य श्रेणी का हूं। जिसका कोई लक्ष्य नहीं है। मैं इस मानसिकता से बाहर कैसे निकलूं?

हमारा सुझाव : व्यक्तिगत समस्या का समाधान

खुद को कोसना बंद कीजिए

सबसे पहली बात आप यदि किसी भी समस्या से जूझ रहे हैं।  तो उसके लिए कृपया करके अपने आप को जिम्मेदार ठहराना बंद कीजिए। हमारे साथ या हमारे आसपास जब भी कोई चीज होती है। तो वह हमारे कारण नहीं होती है। उसके लिए जिम्मेदार हमारे आसपास का वातावरण या वह परिस्थितियां जिम्मेदार होती हैं। जो उस वक्त बहुत तेजी से हमारे ऊपर हावी हो जाती हैं। इस पर किसी का भी हाथ नहीं होता। इसलिए अपने आप को कोसना बंद कर दीजिए।

हमेशा पॉजिटिव विचार रखिए

दूसरी बात मैं सामान्य श्रेणी का हूं या मैं उच्च श्रेणी का हूं। इस तरीके की नेगेटिव बातें भी सोचना बंद कर दीजिए क्योंकि कई बार हमारी जिंदगी में प्रॉब्लम हमारे नेगेटिव विचार के कारण भी आते हैं। सभी को ईश्वर ने बनाया है और जब वही उच्च श्रेणी, निम्न श्रेणी या सामान्य श्रेणी में फर्क नहीं करते हैं। तो आप और हम फर्क करने वाले कौन होते हैं। हमेशा सकारात्मक सोच रखिए।

लक्ष्य अवश्य तय करें

यदि आपका जीवन में लक्ष्य नहीं है। तो अपने जीवन में लक्ष्य को निर्धारित कीजिए क्योंकि जिंदगी में कोई भी इंसान बिना लक्ष्य के जीवन में आगे ही नहीं बढ़ सकता। इसलिए यदि आपको अपनी जिंदगी की गाड़ी को आगे चलाना है। तो पहले जीवन का एक निर्धारित लक्ष्य तय कीजिए और उसी लक्ष्य को आधार मानकर अपनी जिंदगी में थोड़ा थोड़ा आगे बढ़िएं।

समस्या से बाहर निकलने का उपाय है

आपकी जिंदगी की जो भी समस्या है। आप उन सभी समस्याओं से बाहर निकल सकते हैं और एक अच्छे इंसान की तरह अपने जीवन को सुखमय बना सकते हैं। इसके लिए आपको बहुत सारा मेहनत करना पड़ेगा। तब जाकर आप अपने जीवन में एक सफल व्यक्ति बनेंगे और एक खुशनुमा व्यक्ति के रूप में भी जाने जाएंगे।

उपाय

डिप्रेशन से बाहर निकलने का उपाय

यदि आप वास्तव में डिप्रेशन वाली जिंदगी से बाहर निकालना चाहते हैं। तो इसके लिए आप एक छोटा सा उपाय कर सकते हैं। आपको चांदी के लॉकेट में द्विमुखी रुद्राक्ष धारण करना है। इस लॉकेट को आपको सोमवार के दिन अच्छे से शुद्धिकरण कर अपने गले में धारण करना है।

कहा जाता है कि रुद्राक्ष पहनने से भोले नाथ की कृपा बनती है और जब आप द्विमुखी रुद्राक्ष को पहनेंगे। तो भोले बाबा आपसे प्रसन्न होंगे और आपको डिप्रेशन जैसी समस्याओं से बाहर निकालेंगे।

इसके अतिरिक्त आप सोमवार के दिन या फिर पूर्णिमा के दिन सफेद रंग की वस्तुओं का दान कीजिए। इन वस्तुओं में मिश्री, चीनी, चावल दूध इत्यादि चीजें जो सफेद हो वह दान में दी जा सकती है।

यदि आप चाहे तो स्फटिक का माला भी सोमवार के दिन धारण कर सकते हैं। इन सभी उपाय से आपको अपने डिप्रेशन की समस्या से लाभ मिलेगा।

नकारात्मकता से छुटकारा पाने का उपाय

यदि आप वास्तव में पॉजिटिव विचारधाराओं के साथ जिंदगी में जीना चाहते हैं। तो आपको उसके लिए भी उपाय करना होगा।

सुबह उठकर अपने घर के समस्त खिड़कियों को खोल दीजिए। जिससे की आपके घर में हवा का प्रवेश हो और सूर्य की रोशनी का भी।

घर में लोबान धूप अवश्य जलाएं। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है और नकारात्मक ऊर्जा घर से बाहर चली जाती हैं। यदि संभव हो तो रोज हनुमान चालीसा का पाठ करें।

आप जिस घर में या जिस स्थान पर रहते हैं। उस स्थान को हमेशा स्वच्छ रखें। इससे नकारात्मक ऊर्जा आपके आसपास भी नहीं भटकेगी।

नमक वाले पानी से घर पर पोछा लगाएं।

लक्ष्य के अनुसार जीवन में चले

आपने जैसे कहा कि आपके जीवन का कोई लक्ष्य नहीं है। अब आप ही बताइए कि बिना लक्ष्य के आप जीवन में आगे कैसे बढ़ेंगे। कारण जब आपका जीवन में कोई लक्ष्य ही नहीं है। तो इसका मतलब आपका जीवन निरर्थक है। इसलिए अपनी इस जीवन को सार्थक बनाने की कोशिश कीजिए और एक लक्ष्य जरूर तय कीजिए कि आप जीवन में क्या करना चाहते हैं।

यदि आप कुछ नहीं करना चाहते हैं। तो वह बात अलग है और यदि आप सच में कुछ करना चाहते हैं। तो एक लक्ष्य निर्धारित कीजिए और उस लक्ष्य को फॉलो करके ही अपने जीवन में आगे बढ़िए। इस तरह से एक दिन आपको सफलता जरूर मिलेगी।

निष्कर्ष

जीवन में वही सफल हो पाता है जो अपने जीवन का लक्ष्य जानता है कि उसे अपने जीवन में करना क्या है? यही लक्ष्य आपको भी तय करना है क्योंकि जब तक आप नहीं जानेंगे कि आप क्या करना चाहते हैं। तब तक आप जीवन को खुलकर नहीं जी सकते हैं। इसलिए खुल कर जीना सीखें खुद को आरोपी बोलना बंद कीजिए। भगवान पर विश्वास रखें और खूब सारा मेहनत कीजिए आप अपने डिप्रेशन से भी बाहर निकल जाएंगे और आप एक खुशनुमा व्यक्ति भी बनेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.