तनावनिजी सीक्रेटरिलेशनशीपलाईफ स्टाइलशादी विवाहसंबंधसलाह / मार्गदर्शन

मेरी मंदिर में शादी हो गई थी, घरवालों ने फिर से मेरी शादी दूसरे लड़के से तय की है।

मेरी उम्र 28 साल है। कॉलेज में एक लड़के से मै प्यार करती थी। हम दोनों ने तब एक मंदिर में जाकर भगवान के समक्ष शादी की थी। कॉलेज खत्म होने के बाद उसको विदेश में नौकरी लग गई। अब वह मुझसे शादी करना नहीं चाहता। इसलिए मैंने जिंदगीभर कुवारी रहने का फैसला किया। मगर घरवालों ने एक लड़के से मेरी शादी तय करवा दी। मुझे बहुत अपराधी जैसा लगता है। मै खुद को शादीशुदा ही समझती थी। अगर पति को बताया तो पता नहीं आगे क्या होगा।

मेरी मंदिर में शादी होने के बावजूद घरवालों ने फिर से मेरी शादी दूसरे लड़के से करवा देना सही है ? क्या यह उनके साथ धोखा नहीं है?

हमारा सुझाव : घरवालों ने फिर से मेरी शादी दूसरे लड़के से तय करवा दी है।

आजकल पारस्परिक आकर्षण को भी प्यार का नाम दे दिया जाता है। हालांकि जरूरी नहीं कि आपका पहला प्यार भी सिर्फ आकर्षण के आधार पर ही फलीभूत हुआ हो। ऐसा भी हो सकता है कि आपने आपका प्यार सच्चा हो। तब ही आपने अपने प्रेमी से मंदिर में जाकर शादी करने का निर्णय लिया हो। लेकिन यदि आपके माता पिता ने आप की दूसरी शादी करवाई है तो इसके पीछे भी एक वजह रही होगी।

जिस माता पिता ने आप को पाल पोस कर बड़ा किया है। उन्होंने सोच समझकर ही आपके जीवन का फैसला किया होगा। ऐसे में अब आपको थोड़ा सोच विचार कर चलने की जरूरत है। यदि अब भी आप अपने माता पिता के खिलाफ जाकर, पिछली जिंदगी में जाने का सोच रही हैं। तो हम तो यही कहेंगे कि बहन कृपया करके, अब सुधर जाओ। यह सब कुछ आपकी भलाई के लिए ही हो रहा है तो ज्यादा सोच विचार मत करो

कहीं ऐसा ना हो कि आप अपनी नासमझी की वजह से ही अपना बसा हुआ घर उजाड़ ले। बीती बातों को भूल कर, अब अपने पति के साथ वफादार रहें। यदि आपकी बीती जिंदगी की भनक आपके पति को लगती है तो आपका यह रिश्ता भी बिगड़ सकता है। आपकी नई जिंदगी की शुरुआत हो चुकी है और आपके माता-पिता ने अच्छा लड़का ही चुना होगा। इन सभी बातों को अपने दिमाग में रखें ताकि आप कोई गलत कदम उठाने से बची रहे।

इस बात में कोई दोराहा नहीं है कि जब लोग प्यार में होते हैं तो उन्हें दुनियादारी की फिक्र नहीं रहती है। यदि आप भी यही सोच रही है कि आपको किसी की जरूरत नहीं पड़ेगी। तो आप यकीनन गलत सोच रही हैं क्योंकि शादी के बाद ही शुभचिंतकों या परिवार जनों की जरूरत होती है। यदि आप अब भी इस शादी को छोड़कर, अपने पुराने प्रेमी के पास जाती हैं। तो इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि आपका आने वाला भविष्य कैसा होगा।

वैसे भी यदि उसने आपको कभी भी छोड़ दिया या फिर आपके साथ कोई गलत व्यवहार किया। ऐसी स्थिति में, आपका कोई भी दोस्त, पड़ोसी या परिवार का सदस्य साथ नहीं देगा। उस समय आपको अपनी गलती पर पछतावा हो सकता है परंतु तब तक आप सब कुछ गवा चुके होंगे। आपने वह कहावत तो सुनी होगी कि ‘अब पछताए क्या होत, जब चिड़िया चुग गई खेत’। तो उस कहावत वाली स्थिति आपकी भी हो सकती है, इसलिए बहन जी थोड़ा सा दिमाग लगाओ।

अपने परिवार के खिलाफ जाकर कुछ भी गलत कदम उठाने का सोचना बंद करो।घर से भागकर या परिवार के खिलाफ जाकर शादी करना, आपको बहुत महंगा पड़ सकता है। रिश्तों को तोड़ने में बहुत कम समय लगता है लेकिन गृहस्थी को बनाने में सालों बीत जाते हैं। इसके लिए आपको पैसों और पारिवारिक सदस्यों की मदद की भी जरूरत होती है।आपके माता-पिता के द्वारा चुना गया लड़का, आपकी जिम्मेदारी को उठाने के लायक होगा।

तभी आपके माता पिता ने उसे आपके लिए चुना है। परंतु अगर आपका प्रेमी ऐसा नहीं कर पाया तो आपको आटे-दाल के भाव मालूम हो जाएंगे। इसलिए फालतू की बातों से निकलो और अब अपना घर बसा लो।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.