आधुनिकफॅशनलाईफ स्टाइलशादी विवाहसलाह / मार्गदर्शन

क्या ज्यादा पढ़ी लिखी लड़की के साथ शादी करना उचित होगा?

क्या ज्यादा पढ़ी लिखी लड़की के साथ शादी करना उचित होगा?

शिक्षित पत्नी अपने काम में अच्छी हो सकती है। लेकिन यह जरूरी नहीं कि वह एक आदर्श पत्नी भी बन पाएंगी। इस दुनिया में लाखों करोड़ों लोग रहते हैं और हर एक व्यक्ति अपने आप में भिन्न कारणों से अलग होता है।

वैसे तो शिक्षित महिलाओं के विषय में कहा जाता है कि वह आज के समय में शिक्षा दीक्षा ग्रहण तो कर रही हैं। लेकिन बहुत कम ही महिलाएं ऐसी होती हैं। जो कि शिक्षा का वास्तविक प्रयोग करती हैं, अच्छे कामों के लिए।

पढ़ी-लिखी महिला से शादी करना भी चाहिए और नहीं भी कारण कुछ इस प्रकार है:-

शिक्षित महिला से शादी क्यों करना चाहिए

एक पुरुष के शिक्षित होने से ज्यादा समाज को फर्क नहीं पड़ता। लेकिन एक महिला के शिक्षित होने से समाज में एक बहुत बड़ा बदलाव आता है।

शिक्षित महिला से शादी इसलिए करना चाहिए क्योंकि वह अपने बुद्धि से अपने घर परिवार के साथ साथ अपने कार्य क्षेत्र को भी संभाल पाती है।

यहां तक की अपने बच्चे की पहली गुरु बन उसे प्राइमरी शिक्षा भी प्रदान कर सकती हैं। यहां तक की समाज में व्याप्त डकियानूसी सोच भी शिक्षित महिला के कारण बदल सकता है।

पढीलिखी महिला से शादी करने पर उसके पति का मान सम्मान हर जगह बढ़ता है। ऐसी महिलाएं कभी भी अपने पति का सर नीचा नहीं करती है। बशर्ते कि उनके पति भी शिक्षित हो।

सुशिक्षित महिला से शादी क्यों नहीं करना चाहिए

शिक्षित महिला में बहुत अहंकार भरा होता है। अहंकार से भरी हुई स्त्री कभी भी किसी की नहीं हो पाती है। ऐसे लोगों को ना ही घर संभालना आता है और ना ही कुछ और यदि इनको कुछ आता है। तो वह है अहंकार करना।

ऐसी महिला कभी भी एक परफेक्ट गृहणी नहीं बन पाती है क्योंकि वह अपने शिक्षा का इतना आडंबर करती हैं कि उनको घर परिवार संभालने का समय नहीं मिल पाता।

सुशिक्षित महिला का पति यदि कम पढ़ा लिखा हो। तो वह दिन से लेकर रात तक उसे सुनाती रहती है। उसे ताने मारते हैं की क्यों उसने पढ़ाई लिखाई नहीं की। यहां तक कि वह अपने कम पढ़े-लिखे पति को समाज के सामने ले जाने में भी संकोच करती है।

हर लड़की एक नहीं होती

हमने आपको शिक्षित लड़की से शादी करने के कारण बताएं और शादी नहीं करने की भी कारण बताएं। अब हम आपसे यह भी बात कहना चाहेंगे कि समाज में हर लड़की एक हो यह सही नहीं है।

ऐसी भी लड़की हमारे समाज में है। जो शिक्षित तो बहुत ज्यादा है और उनमें घर परिवार सब को संभालने की क्षमता भी बहुत अधिक होती है। शिक्षित होने के बावजूद भी कभी भी अपने शिक्षा का ढोंग ऐसी लड़कियां नहीं करती।

यदि कोई लड़की शिक्षित है। तो वह उसकी किस्मत है। कारण उसके माता पिता ने उसे पढ़ने में मदद की है। हमारे भारत देश में बहुत से ऐसे परिवार है। जो अपने घर की बेटियों को पैसे की कमी के कारण शिक्षा जैसे अधिकार उनको नहीं दिला पाते हैं।

शिक्षित लड़की से शादी करने से पहले 10 बार सोच ले कि आप उसके काबिल है या नहीं कारण शादी कोई गुड्डा एवं गुड़ियों का खेल नहीं है। जब मन जोड़ा जब और जब मन किया तो तोड़ दिया।

लड़की को अच्छे से जान पहचान ले फिर शादी जैसे फैसले लिजिएगा। जान पहचान के दौरान ही आप को शिक्षक लड़की के स्वभाव के बारे में पता चल जाएगा। उससे अनुमान लगाकर ही शादी जैसे पवित्र बंधन में बंध जाइएगा।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.