तनावनिजी सीक्रेटरिलेशनशीपशादी विवाहसंबंध

मै शादीशुदा और 1 बच्ची की माँ हु | मेरी भावनाओं को पति बिल्कुल नहीं समझता

मेरी उम्र 26 है। मै शादीशुदा और 1 बच्ची की माँ हु | मेरी भावनाओं को पति बिल्कुल नहीं समझता

मै मेरा सबकुछ छोड़कर जिस आदमी के भरोसे जिंदगी गुजार रही हु। वह मेरी भावनाओं का या तो मजाक

उड़ाता है। या झगड़े शुरू करता है। एक बार शादी के लिए मेरे पीछे पड़े हुए लड़के के बारे में बताया

2 दिन मुझसे बात करना ही छोड़ दिया था। मुझे कोई चोट लगे, तो ये आदमी मुझे गालिया देता है।

मेरी भावनाओं को पति बिल्कुल नहीं समझता । क्या कोई पत्नी अपने पति से ऐसी उम्मीद कर सकती है?

मुझे तो कुछ समझ में ही नहीं आ रहा है। मेरी शादीशुदा जिंदगी में हलचल मच गई है। क्या करू?

हमारी सलाह : मै शादीशुदा और 1 बच्ची की माँ हु | मेरी भावनाओं को पति बिल्कुल नहीं समझता

अगर पति ना समझे पत्नी की भावनाओं को तो क्या तो, क्या करें ?


एक लड़की के अपनी शादी के लिए बहुत से अरमान होते हैं। वह बचपन से ही अपने सपनों के

राजकुमार के बारे में सपने संजोने शुरू कर देती है ।परंतु क्या वह राजकुमार उसे मिल पाता है।

अक्सर देखा जाता है कि जिस पति के लिए एक शादीशुदा पत्नी अपने मां-बाप,भाई-बहन और अपने बचपन के

घर को छोड़कर एक अनजान घर में जाती है,जहाँ उसे सुनने या समझने वाला कोई नहीं होता। एक

पत्नी को अपने ससुराल में सिर्फ अपने पति से ही उम्मीदें होती हैं किंतु जब वह उसके एहसासों की

परवाह नहीं करता तो पत्नी बिल्कुल अकेली पड़ जाती है और उसे कुछ समझ नहीं आता कि आखिर वह

क्या करें तो चलिए बताते हैं आपको  कुछ ऐसे तरीके जिन्हें अपनाकर आप अपने पति को अपनी भावनाओं

का एहसास करा सकते हैं।

क्या हो सकते हैं कारण की आपके पति आपकी भावनाओं की कदर नहीं करते


भरोसे की कमी-

अगर आपके पति किसी भी काम में आप की  सलाह लेना जरूरी नहीं समझते या फिर कोई भी बात

आपके साथ शेयर नहीं करते तथा हर बात अपने माता पिता से ही साँझी करते हैं। तो उसकी एक  ही

वजह हो सकती है वह है भरोसे की कमी ।इससे स्पष्ट पता चलता है कि वह आप पर भरोसा ही नहीं करते।

ससुराल के लोगों की दखलंदाजी

 इस बात में कोई शक नहीं है की सास और ननद की यह सोच होती है कि अगर उनका बेटा या भाई

अपनी पत्नी की बात सुनने लगा ,तो कहीं वह उनके हाथ से ना निकल जाए। क्योंकि यदि पति अपनी

पत्नी का ख्याल रखता है तो उसे ससुराल के अन्य लोगों द्वारा जोरू का गुलाम होने का दर्जा दे दिया जाता है।

परिणामस्वरूप एक मां हमेशा अपने बेटे को अपने कंट्रोल में रखना चाहती है जिसकी वजह से वह

अपनी पत्नी को मान सम्मान नहीं दे पाता।

पत्नी की बुरी आदतें 

ऐसा तो नहीं है कि आप खुद ही अपने पति  की भावनाओं को इग्नोर कर रही  थी और जब वह बदले

में ऐसा करने लगे तो आपको  बुरा लगा हो। क्योंकि कोई भी पति यह नहीं चाहता की उसकी पत्नी

उसकी इच्छा के विरुद्ध कोई काम करें। कई बार पत्नी द्वारा जरूरत से ज्यादा की गई टोका टाकी भी

इस व्यवहार का कारण बन जाती है।

अगर पति नहीं करते आपके कदर तो क्या करें


जिस पति को एक पत्नी अपनी पूरी दुनिया समझती है और वह पति उसकी भावनाओं का ख्याल न रखता हो।

तो इस बात का एहसास तो वह पत्नी कर सकती है जिसके साथ यह बीत रहा हो ।तो आइए बताते हैं

आपको कुछ ऐसे टिप्स जिनकी मदद से आप भी अपनी पर्सनल लाइफ की खुशियां वापस ला सकते हैं-

रखें अपना ख्याल 

अक्सर पत्नियां घर परिवार का ध्यान रखते रखते रखते, अपना सजना सवरना भूल जाती हैं इस वजह से

पति की दिलचस्पी आप में कम हो जाती है इसलिए खुद को भी समय दें और पति के लिए अच्छे से तैयार होकर रहें।

 पति की पसंद का खाना 

आपने यह कहावत तो सुनी होगी कि मर्द के दिल का रास्ता पेट से होकर जाता है। तो इस कहावत

के आधार पर अपने पति के पसंद का खाना उनके लिए बनाएं और कुछ खुशी के पल एक साथ गुजारे।

छोटी-छोटी बातों से ना करें परेशान 

जब भी आप अपने पति के साथ अकेले हो तो घर परिवार के छोटे-मोटे झगड़े और परेशानियां उनके

सामने ना रखें। बल्कि अपनी जिंदगी की खुशियों को एक दूसरे के साथ साझा करें। इन छोटे-छोटे

उपाय को आजमा कर अपनी जिंदगी को खुशहाल बनाएं और नकारात्मक ना सोचे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.