भविष्यमनोरंजनरिलेशनशीपलाईफ स्टाइलशादी विवाहसलाह / मार्गदर्शन

शनि पीड़ा वाली महिला के लक्षण

शनि दोष के विषय में क्या आप जानते हैं। कहां जाता है, शनि भगवान न्याय के भगवान होते हैं। इसीलिए न्याय के लिए जाना जाने वाला सबसे शक्तिशाली ग्रह शनि है। जीवन में शनि के प्रभाव से हर किसी को समय-समय पर महादशा, अंतर्दशा और प्रत्यन्तर्दशा से गुजरना पड़ता है। 

कुंडली में यह जहां भी बैठता है, व्यक्ति के जीवन के विभिन्न पहलुओं को बदल देता है। लोग आमतौर पर शनि देव से डरते हैं क्योंकि शनि दशा के दौरान अच्छे और बुरे कर्मों का फल मिलता है। 

शनि पीड़ा वाली महिला के लक्षण

शनि देव किसी के साथ पक्षपात नहीं करते हैं। इसलिए व्यक्ति को कर्मों के अनुसार समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आज हम बात करेंगे कि एक महिला जब शनि की दशा से प्रभावित होती हैं। तो कैसे उन्हें पता चलता है अर्थात शनि से पीड़ित होने के लक्षण महिलाओं में क्या पाए जाते हैं:-

स्वास्थ्य बिगड़ता है

कुछ महिलाओं को शनि दोष के कारण अत्यधिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लकवा, अस्थमा, हड्डियों की समस्या और अन्य पुरानी बीमारियों का भी सामना करना पड़ता है। कार्यक्षेत्र में बाधा उत्पन्न होती हैं। पेशेवर और व्यक्तिगत कार्यों में सफलता पाने के मार्ग में अनजाने में बाधाएं भी उत्पन्न शनि दोष के कारण ही होती हैं।

गरीबी की स्थिति उत्पन्न हो जाती है

जिन महिलाओं को घमंड होता है, अपपनी स्टेटस का। उन महिलाओं को शनि भगवान सजा के तौर पर इतनी बड़ी सजा देते हैं कि वह दाने-दाने को तरस जाती है। एक तरह से कहा जाता है ऐसी महिलाओं को गरीबी स्थिति से भी गुजरना पड़ता है।

शादी देर से होती है

असंतोषजनक वैवाहिक जीवन या जीवनसाथी मिलने में देरी भी शनि दोष के कारण ही जीवन में उत्पन्न होने वाली एक और समस्या है। चेहरे पर निराशा झलकती है। निराशा और बीमारी व्यक्ति को आत्महत्या के प्रयास के बारे में सोचने पर मजबूर करती है।

कितने वर्षों तक लोगों पर शनि की दशा चलती है?

शनि का दुष्प्रभाव साढ़े सात साल तक रह सकता है। इसे साढ़े साती कहते हैं। लोग अक्सर यह सोचकर पागल हो जाते हैं कि इनका उनके जीवन पर क्या प्रभाव पड़ेगा।जब व्यक्ति के ऊपर शनि की दशा चलती है। तो व्यक्ति बहुत परेशान रहता है। लेकिन जैसे ही शनि देव की दशा दूर होती है, लोग बहुत खुश होते हैं। शनि देव व्यक्ति को जाते-जाते। बहुत सारा आशीर्वाद देकर जाते हैं।

क्या शनि के प्रभाव से बचा जा सकता है?

जी, हां कुछ ऐसे उपाय है। जिन्हें अगर माना जाएं तो व्यक्ति शनि के प्रभाव से बच सकता है। जैसे-

काले रंग का प्रयोग करें

शनिवार को काले या गहरे नीले रंग के कपड़े पहनें, यह दिन शनि देव को समर्पित और उनके नाम पर रखा गया है। चालीसा को पढ़ने से लाभ मिलता है। सुबह जल्दी स्नान करने के बाद हनुमान चालीसा और शनि चालीसा का जाप करना चाहिए।

तिल का प्रयोग

एक काले कपड़े में कुछ काले तिल बांधकर तिल के तेल में डुबा दें। फिर इसे मिट्टी के दीये पर रखकर जलाएं। यह प्रसाद भगवान हनुमान और शनि देव की पूजा करते हुए करें। दान पुण्य से बच सकते हैं। यदि आपको लगता है की आप पर शनि दशा चल रही है। तो आपको जरूर से दान पुण्य करना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.