आधुनिकमहिला स्वास्थशादी विवाहसंबंधसलाह / मार्गदर्शन

तलाकशुदा महिला को दूसरी शादी करनी चाहिए या नहीं?

जब भी एक लड़का और लड़की शादी के बंधन में बांधे जाते हैं तो उन्होंने अपने भविष्य के बहुत से सपने देखे होते हैं। इस पड़ाव पर तलाक के विषय में किसी ने भी नहीं सोचा होगा। परंतु कई बार बहुत सी दर्दनाक परिस्थितियां उत्पन्न हो जाती हैं जो ना चाहते हुए भी शादी को तलाक की तरफ ले जाती हैं। किसी भी पुरुष या औरत की तलाक के बाद जिंदगी खत्म नहीं हो जाती हैं। लाकशुदा महिला को दूसरी शादी करनी चाहिए या नहीं?

अपनी जिंदगी को फिर से नए सिरे से शुरू करना ही समझदारी भरा निर्णय होगा। ऐसे में दूसरी शादी करना ही एक महिला के लिए बेहतर होगा जिससे उसे भावनात्मक और आर्थिक सपोर्ट मिलेगा। इसके अलावा ऐसे बहुत से कारण हैं जिनके आधार पर एक महिला को तलाक के बाद दूसरी शादी करनी चाहिए। आइए जानते हैं कौन से हैं यह प्रमुख कारण जिनके आधार पर शादी का फैसला लिया जा सकता है।

भावनात्मक और मानसिक सपोर्ट

तलाक के बाद एक महिला बिल्कुल अकेली हो जाती है। जहां उसे भावनात्मक लगाव की जरूरत होती है, एक ऐसा लगा जो उसके हर दुख तकलीफ को समझें। माना कि पहले पति से तलाक के बाद मन में कुछ नकारात्मकता भी आने लगती है। परंतु जरूरी तो नहीं जैसा नकारात्मक अनुभव पहले पति के साथ रहा हो वैसा दूसरे साथी के साथ भी हो। इसलिए अपने भावनात्मक और मानसिक परिस्थितियों को पूर्ण रूप से दुरुस्त करने के लिए दूसरी शादी बहुत जरूरी है।

आर्थिक सहारा

एक महिला चाहे कितनी ही आत्मनिर्भर क्यों ना हो लेकिन तलाक के बाद पूरी जिम्मेदारी अपने कंधों पर आ जाने से परेशानियां तो बढ़ती ही है। यदि आप की पहली शादी के बच्चे भी आपके पास हैं तो जिम्मेवारी और भी कठिन होती है। बेशक आप पैसा कमा कर बच्चों का पालन पोषण कर लेंगे। लेकिन कहीं ना कहीं उन्हें एक पिता की जरूरत जरूर है जो उनका का ख्याल रखें। अगर आपकी आर्थिक स्थिति कभी भी बिगड़ती है तो ऐसे में संभालने के लिए आपको साथी की जरूरत है।

सामाजिक आधार

हमारा समाज चाहे कितना ही आधुनिक क्यों ना हो जाए। लेकिन एक तलाकशुदा महिला के प्रति उनका नजरिया बहुत भेदभाव वाला रहता है। एक अकेली महिला के प्रति उनकी सोच को आप बदल नहीं सकती हैं। ऐसे में आप चाहे कितनी ही मजबूर क्यों ना हो एक ना एक दिन समाज की बातें आपको तोड़ कर रख ही देंगी। आप ऐसा समय आने का इंतजार भी क्यों करें इसलिए पहले तलाक के बाद दूसरी शादी करने में  ही समझदारी है।

बिना बच्चों की जिंदगी

सबसे जरूरी बात यदि पहली शादी थी आपके पास कोई बच्चा नहीं है तो आपके लिए दूसरी शादी करना तो और भी ज्यादा जरूरी है। क्योंकि बिना बच्चों के आप पूरी जिंदगी अकेले बिल्कुल नहीं रह सकते हैं और ऐसे में अकेले रहना बिल्कुल निरर्थक भी लगता है। दूसरी शादी के बाद पैदा होने वाले बच्चे आपकी पूरी जिंदगी को एक सही मायने में राह देंगे। इससे ना सिर्फ आपकी आने वाली जिंदगी खूबसूरत बनेगी बल्कि पिछले शादी के बुरे अनुभवों को भी आप आसानी से भूल पाएंगे। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.