आरोग्यटेक्नोलॉजीमहिला स्वास्थ

संतान-सुख से वंचित हु। क्या आईवीएफ तकनीक की मदद लें ?

मेरा नाम रानी है। मेरी उम्र 31 और पति की उम्र 37 है। हमारी शादी को 9 साल पूरे हो चुके है। संतान-सुख से वंचित हु।

मगर अभीतक बच्चा नहीं हुआ है । हम दोनों की रिपोर्ट भी नॉर्मल है। पति का स्पर्म काउंट

90 मिलियन है। फिर भी संतान प्राप्ति नहीं हो रही है। हमारे रिश्तेदार आईवीएफ तकनीक की मदद लेने की सलाह

दे रहे है। क्या वह कारगर है ? क्या आईवीएफ तकनीक की मदद लें ? उसके बारे में जरा जानकारी दीजिए।

संतान-सुख से वंचित हु।

अगर आप दोनों का रिपोर्ट नॉर्मल है, स्पर्म काउंट भी ठीक है तो आईवीएफ तकनीक की मदद

अवश्य लेनी चाहिये। आप के लिये बहुत बढ़िया विकल्प है। इस तकनीक के लिये अच्छे

चिकित्सक से संपर्क करें। आईवीएफ तकनीक से हरसाल हजारों बच्चे जन्म लेते है। आप माँ बन सकती है।

पहला चरण

मासिक धर्म के अगले दिन ब्लड और अल्ट्रासाउंड से अंडाशय की जांच के बाद डॉक्टर आपको मॉनिटर

करेंगे और और कुछ दवाई देंगे जो ट्रिगर शॉट करके परिचित है।

दूसरा चरण

प्रोजेसेरॉन को बढ़ाने की दवा खाने से आप के गर्भाशय के स्तर का विकास हो जाएगा।

तीसरा चरण

अंडे फिर से बनना शुरू होने के बाद स्पर्म प्रदान करने के लिये डॉक्टर कहेंगे। फिर डॉक्टर क्लिनिक में

आगे की प्रक्रिया शुरू करते है।

ये भी पढे : निर्जला एकादशी व्रत। भीम जैसी शक्तिशाली संतान होगी इस उपास से (myjivansathi.com)

चौथा चरण

फिर डॉक्टर शुक्राणु एवं अंडे का मिलन करते है। उसको इनक्यूबेटर में रखते है। भ्रूण तज्ञ द्वारा

नियमित चेकिंग होती है। अगर सबकुछ सही है तो भ्रूण तैयार हो जाता है।

पाँचवा चरण

इस चरण में भ्रूण को तरल पदार्थ के रूप में कैथेटर में रखते है। 2 सप्ताह तक आपको क्या खान पान करना

है इसकी जानकारी डॉक्टर देंगे। और फिर आप प्रेगननसी किट से चेक कर सकती है की आप माँ

बननेवाली है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.