आयुर्वेदआरोग्यजड़ी बूटीमहिला स्वास्थ

माँ बनना चाहती हु

माँ बनना चाहती हु । मेरी शादी को 12 साल हो गए है। मेरी उम्र 35 साल और पति की 42 साल है। मै गृहिणी हु, और पति नौकरी करते है। बरसों से डॉक्टरी दवाई ले रही हु, मगर इलाज करके भी कुछ फायदा नहीं हुआ है। हम दोनों के रिपोर्ट नॉर्मल है। गोद न भरने के कारण पूरा घर का माहौल खराब हो गया है। बढ़ती उम्र के साथ हम उम्मीद भी हार रहे है। घरवाले बच्चा गोद लेने के खिलाफ है। क्या कोई घरेलू उपाय आप बता सकते है जिससे मै माँ बन सकु?

हमारी सलाह : घरेलू उपचार के माध्यम से गर्भधारण कैसे करें?

एक बच्चे को जन्म देना एक महिला के लिए सबसे संतोषजनक और उत्साहजनक होता है। हालांकि, गर्भवती होने की यात्रा हर महिला के लिए अलग होती है। जहां कुछ महिलाएं आसानी से गर्भवती हो जाती हैं, वहीं कुछ को गर्भधारण के लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।  

हम आज विभिन्न तरह के घरेलू उपचार के उपायों पर चर्चा करेंगे जो आपको गर्भवती होने और माता-पिता बनने के आपके सपने को पूरा करने में मदद कर सकता हैं। हांलांकि घरेलू उपचार गारंटी नहीं देता कि आप गर्भ धारण करेंगी ही। लेकिन यह उपाय आपको तेजी से गर्भ धारण करने में मदद कर सकते हैं। यदि आप गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं, तो निम्नलिखित प्राकृतिक तरीके मददगार हो सकते हैं–

अधिक पानी पीजिए 

ऐसा माना जाता है कि अधिक पानी पीने से आपको गर्भवती होने में मदद मिल सकती है। इसलिए रोज़ाना उचित मात्रा में पानी पीजिए। ताकि आसानी से गर्भधारण करने में आपको मदद मिल सकें।

सूरज से विटामिन डी प्राप्त करें

शोध से पता चला है कि विटामिन डी का शरीर में कम होना भी बांझपन का कारण बन सकता है।  विटामिन डी वास्तव में एक हार्मोन है जो आपका शरीर बनाता है, जब आपकी त्वचा सूर्य की किरणों के संपर्क में आती है। तब आपको विटामिन डी प्राप्त होगा। यह सामान्य रूप से अच्छे स्वास्थ्य और गर्भवती होने के लिए महत्वपूर्ण होता है।

खजूर

खजूर में विटामिन बी और के, आयरन, पोटेशियम, फोलेट, एंटीऑक्सिडेंट और अन्य आवश्यक खनिज प्रदान करते हैं। गर्भावस्था के दौरान आयरन और फोलेट अति महत्वपूर्ण पोषक तत्व होता हैं! इस प्रकार, पोषक तत्वों से भरपूर खजूर एक पावर फूड है। जो आपको गर्भधारण करने में और गर्भावस्था के दौरान भी मदद कर सकता है। 10-12 बीजरहित खजूर को दो चम्मच धनिये की जड़ों के साथ पीस लें और रोज़ाना खाएं।

बरगद के पेड़ की जड़ें

बरगद के पेड़ की जड़ें गर्भधारण के लिए एक प्रभावी घरेलू उपाय हैं। आप मासिक धर्म खत्म होने के बाद लगातार 3 दिनों तक बरगद के पेड़ की जड़ के चूर्ण को गर्म दूध के साथ ले सकते हैं। आप कुछ महीनों तक इस प्रक्रिया का पालन कर अच्छा परिणाम प्राप्त कर सकते हैं।

सरसों का पेस्ट

आप इस सरल और आसान घरेलू उपाय को अपनाकर गर्भवती होने की संभावना को बढ़ा सकती हैं। आप अपने मासिक धर्म चक्र के चौथे दिन के बाद अपने दैनिक आहार में सरसों के पेस्ट को प्रभावी ढंग से शामिल कर सकती हैं। महिलाओं में फर्टिलिटी बढ़ाने में सरसों काफी कारगर होता है। लेकिन इसे ज़्यादा मत खाइए। वरना आपको लिवर से संबंधित बीमारी भी हो सकती है।

लहसुन

गर्भवती होने का एक प्रभावी प्राकृतिक उपाय लहसुन  है। लहसुन का सेवन पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन क्षमता को बढ़ा देता है। आप लहसुन की 4 से 5 कलियां लेकर उसे चबा सकते हैं। लहसुन की कली को चबाकर एक गिलास गर्म दूध पिएं। सर्दियों के महीनों में नियमित रूप से इस दिनचर्या का पालन करने से लाभ होगा।

अनार

अनार विटामिन सी और के के साथ-साथ एंटीऑक्सिडेंट, फोलेट और पोटेशियम से भरपूर होते हैं। अनार रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में काफी कारगर होता है। महिला प्रजनन क्षमता बढ़ाने के लिए भी अनार खाना अच्छा माना गया है। 

सेंधा नमक

गर्भवती होने की संभावना को बढ़ाने के लिए आप सेंधा नमक का उपयोग कर सकती हैं। सेंधा नमक महिलाओं को बांझपन से लड़ने में मदद करता है क्योंकि सेंधा नमक में कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम और आयरन जैसे कई आवश्यक खनिज होती हैं। आप एक चम्मच सेंधा नमक लेकर 750 मिलीलीटर पानी में भिगो दें। परिणाम देखने के लिए इस पानी को सुबह सूर्योदय होने से पहले 3 से 6 महीने तक पिएं।

ध्यान में रखने वाली कुछ खास बातें 

चीनी से परहेज़ करें

चीनी में कार्बोहाइड्रेट पाई जाती है। आवश्यकता से अधिक मात्रा में चीनी खाने से शरीर में इंसुलिन का स्तर बाधित हो सकता है। कार्बोहाइड्रेट युक्त आहार शरीर में इंसुलिन प्रतिरोध पैदा करता है, और यदि आप गर्भधारण करने की योजना बना रही हैं तो यह चीनी समस्याएँ पैदा कर सकती हैं। चीनी के स्वस्थ विकल्प के रूप में प्राकृतिक मिठास या फलों का सहारा लें।

अच्छी नींद लें

यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप अपने सभी आंतरिक अंगों के समुचित कार्य के लिए अच्छी नींद लें। सोने की अनियमित आदतें आपके हार्मोन पर भारी पड़ सकती हैं। एक बाधित हार्मोनल संतुलन गर्भाधारण में समस्या पैदा कर सकता है।

तनाव को दूर रखें

तनाव कई स्वास्थ्य जटिलताओं और समस्याओं को जन्म दे सकता है, और गर्भधारण उनमें से एक है। तनाव का बढ़ा हुआ स्तर उन हार्मोन को प्रभावित कर सकता है जो अंडाशय से अंडे को मुक्त करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। इसलिए, तनाव के कारण ओव्यूलेशन में देरी हो सकती है या ओव्यूलेशन बिल्कुल भी नहीं हो सकता है।

धूम्रपान छोड़ दें

धूम्रपान ना करने वाली महिलाओं की तुलना में धूम्रपान करने वाली महिलाओं को गर्भधारण करने में अधिक समय लग सकता है। साथ ही, धूम्रपान करने वाली गर्भवती महिला को आनुवंशिक असामान्यताओं वाले बच्चे को जन्म देने का बहुत अधिक खतरा होता है।

शराब का सेवन ना करें

शराब के सेवन से अनियमित मासिक धर्म चक्र, ओव्यूलेशन की समस्या और बाधित हार्मोनल स्तर हो सकते हैं। यदि आप गर्भवती होने की योजना बना रही हैं। तो यह सब जटिलताएं हो सकती है।

कॉफी ना पीएं

अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन रक्त में आयरन के अवशोषण में बाधा डालता है। इन चीजों से महिलाओं में बांझपन की समस्या हो सकती है, जिसके परिणामस्वरूप गर्भधारण करने में समस्या हो सकती है और गर्भपात या समय से पहले प्रसव का खतरा हो सकता है।

स्वस्थ और फिट रहें

रोजाना व्यायाम करना बहुत जरूरी है। यदि आपका वजन अधिक है, तो कुछ वजन कम करना एक अच्छा विचार हो सकता है, क्योंकि इससे आपके गर्भवती होने की संभावना में सुधार होगा। हालांकि, अगर आपका वजन कम है, तो आपको ओवुलेशन की समस्या हो सकती है। एक स्वस्थ और फिट शरीर बनाए रखें, क्योंकि इससे आपके गर्भवती होने की संभावना बढ़ जाती है।

सूचना : ये जानकारी सिर्फ ज्ञान बढ़ाने के हेतु दी गई है। चिकित्सक से सलाह लेकर ही अगला कदम बढ़ाए

Related Articles

Back to top button
शादीशुदा महिला के प्यार के इशारे शादी के बाद लड़की की औरत कैसे बनती है ? मेष राशि की पत्नी से ऐसे रहें सावधान मांगलिक लड़कि ऐसे पहचाने मर जाना लेकिन इन 5 लड़कियों से शादी मत करना
शादीशुदा महिला के प्यार के इशारे शादी के बाद लड़की की औरत कैसे बनती है ? मेष राशि की पत्नी से ऐसे रहें सावधान मांगलिक लड़कि ऐसे पहचाने मर जाना लेकिन इन 5 लड़कियों से शादी मत करना