आरोग्यलाईफ स्टाइल

रातकों नींद नहीं आती?

रातकों नींद नहीं आती? स्वस्थ स्वास्थ्य के लिए नींद अच्छी होने की जरूरत है। इससे आपको गंभीर बीमारियां नहीं होती हैं। मस्तिष्क शांत रहता है। विभिन्न शोधों के अनुसार, यदि आप गहरी नींद के लिए एक सप्ताह तक अपने आहार में निम्नलिखित का पालन करते हैं तो आप जल्द ही प्रभाव महसूस करेंगे।

Time needed: 5 minutes.

बिस्तर पर जाने से पहले इनमें से एक या दो खाद्य पदार्थों का सेवन शुरू कर दें। जैसे ही आपको फर्क महसूस होता है, इसे अपनी डेली लाइफस्टाइल में फॉलो करें।

  1. गर्म दूध

    दूध नींद के लिए रामबाण औषधि है। इसमें ट्राइपटफेन नामक अमीनो एसिड होता है।
    यह सेरोटोनिन में बदल जाता है। सेरोटोनिन मेलाटोनिन हार्मोन बढ़ाता है। अच्छी नींद लेने पर कैलोरी ज्यादा खर्च होती है।अगर आप रात में जागते हैं तो भी पेट भरा हुआ महसूस होता है। इससे नींद जल्दी आ जाती है।

    कब और कितना: सोने से आधे घंटे पहले गुनगुना दूध पीएं। इसमें हल्दी मिलाई जा सकती है।

  2. केला और शहद

    आयुर्वेद के अनुसार रात में केला नहीं खाना चाहिए। शोधकर्ताओं के अनुसार बिस्तर पर जाने से एक घंटे पहले केले खाने से नींद बेहतर बनती है।
    क्योंकि केले में ट्रैप्टोफान होता है। चाय के एक छोटे चम्मच की तरह शहद का सेवन करने से
    ओरक्सिन रिसेप्टर शांत हो जाता है। इस रीसेप्टर से दिमाग का संतुलन बना रहता है।

    कब और कितना: सोते समय शहद खाएं और एक घंटे पहले एक केला।

  3. चेरी का रस

    चेरी में अच्छी नींद लेने के लिए चार जरूरी चीजें हैं- ट्रिप्टाफेन, सेरोटोनिन, मेलाटोनिन और पोटेशियम।
    रिसर्च के मुताबिक चेरी की वजह से काफी एक्सरसाइज और थकान होती है।
    टोर्ट चेरी मीठी चेरी से अलग स्नैक्स या जूस के रूप में लिया जा सकता है। इसमें विटामिन सी होता है।

    कब और कितना: बिस्तर पर जाने से पहले तीखा चेरी का रस या स्नैक्स एक घंटे लें। आप मीठी चेरी भी खा सकते हैं।

  4. कीवी फल

    चौबीस वयस्कों को चार सप्ताह तक सोने से एक घंटे पहले कीवी दी गई थी ।
    इससे बिस्तर पर लगने वाले समय में 42 फीसदी की कमी आई। सोने में भी 13 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।
    इसमें सेरोटोनिन केमिकल होता है। यह नींद चक्र को नियंत्रित करता है।

    कब और कितना: आप सोने से एक घंटे पहले दो छोटे कीवी खा सकते हैं। आप गहरी नींद लेंगे।

  5. हर्बल चाय

    कैमोमाइल और कृष्णकमल (जुनून फ्लावर) फूल चाय नींद के लिए एक चमत्कार है।
    कैमोमाइल में एप्जेनिन एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। यह नींद के लिए अच्छा होता है।
    एक अध्ययन के अनुसार लोगों ने 28 दिनों तक हर दिन दो बार कैमोमाइल चाय पी, जिसके बाद वे 15 मिनट के भीतर ही सो गए।

    कब और कितना: सोने से 30 मिनट पहले कैमो मील या कृष्णकमल चाय

  6. बादाम/अखरोट

    मेलाटोनिन हार्मोन जो मस्तिष्क में पायनल ग्रंथि से बाहर आता है, नींद चक्र को नियंत्रित करता है।
    बादाम मेलाटोनिन का अच्छा स्रोत है। अखरोट नींद को बेहतर बनाते हैं।
    खजूर से भरे बादाम आपके दिन के फास्फोरस की जरूरत का 18 फीसदी पूरा करते हैं।

    कब और कितना: सोने से एक घंटे पहले अखरोट या भुने हुए बादाम खाएं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.