रिलेशनशीपशादी विवाहसंबंधसलाह / मार्गदर्शन

देवर को साथ रखना चाहती हु। घरवालों को ये बात बिल्कुल पसंद नहीं। क्या करू ?

मेरी शादी को 3 साल हो गए है। मुझे एक बेटा है। देवर को साथ रखना चाहती हु। पति नौकरी

करते है।बच्चे की देखभाल करने हेतु मैने नौकरी छोड़ दी है। हमारे घर में सांस, ससुर, पति रहते है।

मेरे देवर अलग रहते है। मेरे पति का बड़ा भाई है। उनकी पत्नी उसके किसी पूर्व प्रेमी के साथ

भाग गई है। उनको बच्चा भी नहीं है। अकेलेपन की वजह से वो शराब भी पीने लगे है। खाना खुद

पकाते है। मुझे उनपर दया आती है। मैंने देवर को अपने साथ रहने के बारे में घरवालों से बात की।

सांस ससुर को कोई ऐतराज नहीं, मगर मेरे पति उनको साथ रखना नहीं चाहते।

देवर की शादी के बाद जायदाद को लेकर एक बार झगड़ा हुआ था। उस वक्त मेरे पति के सिर पर

देवर ने लाठी से मारा भी था। इस बात का गुस्सा उनके मन में अभी भी है। जिस घर को

लेकर झगड़ा हुआ था, वह घर देवर ने बेच दिया है।हम अब जिस घर में रहते है,वह मेरे पति ने

खरीद लिया है। देवर को साथ रखना मतलब फिर से घर में झगड़े शुरू करना ऐसा इनका

मानना है। क्या मेरे पति सही है ? क्या परिवार को साथ रखने की मेरी सोच गलत है ? मुझे बताए,

की ऐसी स्थिति में मुझे क्या करना चाहिये ?

इस बहन को आपके सलाह की जरूरत है पति का अफेयर है। प्रेमिका गद्दार निकली। मै कर्ज चुकाऊ ? या दूसरी शादी करू ? – (myjivansathi.com)

हमारी सलाह : देवर को साथ रखना चाहती हु।

आपकी सोच बड़ी ही नेक है। आप परिवार को जोड़ना चाहती है। इसलिए आप अभिनंदन की हकदार है।

मगर दोनों भाइयों में दूरी पैदा हो चुकी है। अब तो स्थिति आपके हक में नहीं दिख रही है। मगर

आपके सांस ससुर से परामर्श करें। और उस घटना के बारे में विस्तार से जाने। हो सकता है, की आपके

पति की बात सही हो। अगर आपकी जिद के कारण देवर आपकी फॅमिली में रहने आते है, और फिर से

झगड़े शुरू होते है, तो फिर जो स्थिति पैदा होगी वह आप संभाल नहीं सकोगी। इस बातपर भी सोचिए।

और अभीतक आपने देवर की राय नहीं जानी है। अब वह बुरी हालत में है। आप उनको कुछ और मदद

भी कर सकती हो। मगर सबकुछ अपने घरवालों के अनुमति से ही करना। सही वक्त पर दोनों में जो दूरी

है वह खत्म भी हो सकती है। और दोनों भाई फिर से एक हो सकते है। फिलहाल इंतजार करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.