आयुर्वेदआरोग्यखाद्यत्योहारपुरुष स्वास्थमहिला स्वास्थरोग एवं निदानव्रत कथा

केला खाने के फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे आप

पका हुआ फायदेमंद होता है। इस विषय में आप सभी को जानकारी तो होगी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कच्चा केला सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। बहुत सारे रोगों को ठीक करने में कच्चा केला बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। 

रोजाना खाएं हजारों रुपए की दवा की जगह कच्चा केला, गुण जानकर हैरान रह जाएंगे आप

कच्चा केले के प्रयोग के बारे में लोगों को इसलिए भी नहीं पता होता है क्योंकि यह ज्यादातर सब्जी एवं कोफ्ता बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है। कच्चा केला पोटेशियम का एक स्रोत है जो न केवल प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है बल्कि पूरे दिन शरीर को सक्रिय रखता है। यह विटामिन सी कोशिकाओं को पोषण देने का भी काम करता है। साथ ही इसमें स्वस्थ स्टार्च के साथ-साथ एंटी-ऑक्सीडेंट भी होते हैं। आइए कच्चे केले के उपकार के विषय में जानते हैं।

इम्युनिटी पॉवर बढ़ाता है

आज के समय में व्यक्ति का इम्यून सिस्टम स्ट्रांग होना जरूरी है। अपने इम्यून सिस्टम को स्ट्रांग करने के लिए हर व्यक्ति अलग अलग तरीके अपनाते हैं। लेकिन हमारे अनुसार आपको कच्चा केला अपने खाद्य आहार में शामिल करना चाहिए। इससे आपका इम्यूनिटी सिस्टम भी स्ट्रांग होगा। साथ ही आपके शरीर को विटामिन एवं एंटी ऑक्सीडेंट भी मिलेगा।

वजन भी घटता है

जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उन्हें हर दिन एक कच्चा केला खाने की सलाह दी जाती है। कारण यह फाइबर से भरपूर होता है जो अनावश्यक वसा को कोशिकाओं और अशुद्धियों को दूर करने में मदद करता है।

भूख शांत करने के काम आता है

कच्चे केले में मौजूद फाइबर और कई अन्य पोषक तत्व हमारे भूख को नियंत्रित करने का काम करता हैं। कई बार कच्चा केला खा लेने से आप 4-5 घंटे बिना खाए रह पाएंगे। कच्चे केले खाने का फायदा यह तो है ही कि हमें बार बार भूख नहीं लगती है और दूसरा फायदा यह है कि जब भूख लगती है। तो व्यक्ति उस वक्त कुछ भी खा लेता है। फास्ट फूड लोगों द्वारा सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। जब लोगों को भूख लगती है तो लोग ज्यादातर फास्ट फूड ही खाते हैं। लेकिन यदि कोई व्यक्ति कच्चा केला खाने का आदी हो। तो वह गलती से भी फास्ट फूड नहीं खाएगा। कारण उसे भूख ही नहीं लगेगी।

कब्ज की समस्या से छुटकारा मिलेगा

कच्चे केले में फाइबर और स्टार्च होता है। जो किसी भी प्रकार की अशुद्ध वस्तु को पेट में नहीं रहने देता है। ऐसे में अगर आपको बार-बार कब्ज की समस्या होती है तो कच्चा केला खाना आपके लिए काफी फायदेमंद रहेगा।

मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करता है

अगर आपको मधुमेह है तो कच्चा केला खाने से आपका शुगर लेवल बहुत ज्यादा कंट्रोल हो सकता है। यदि आपका शुगर नया नया है। तो कच्चा केला रोजाना अपने आहार में शामिल करें ऐसे में आपका शुगर जल्दी नियंत्रित होगा। शुगर का मेडिसिन तो बहुत है दुनिया में। लेकिन कच्चे केला से अच्छा कोई मेडिसिन शुगर के लिए हो ही नहीं सकता है।

पाचन में सुधार करने में मदद करता है

कच्चे केले के नियमित सेवन से पाचन क्रिया में सुधार होता है। कच्चा केला खाने से पाचक रसों का बेहतर स्राव होता है। कच्चा केला कई तरह के कैंसर से भी बचाता है। कच्चे केले में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है और साथ ही खराब मूड की समस्या में भी बदलाव लाता है।

हड्डियों को मजबूत करता है

इसके अलावा कच्चे केले कई तरह के कैंसर से बचाव में मदद करते हैं। कच्चे केले में मौजूद कैल्शियम हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद करता है।

हरे और पके केले में मुख्य अंतर यह है कि हरे केले में कार्बोहाइड्रेट मुख्य रूप से स्टार्च के रूप में होता है। यह पकने की प्रक्रिया के दौरान धीरे-धीरे चीनी में बदल जाता है, इसलिए ज्यादातर लोग पके केले खाना पसंद करते हैं क्योंकि वे मीठे होते हैं। इसलिए हरे केले मधुमेह के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। हरे केले में कार्ब्स मुख्य रूप से चीनी के बजाय स्टार्च से आते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.