आयुर्वेदआरोग्यतनावनिजी सीक्रेटपुरुष स्वास्थरिलेशनशीपलाईफ स्टाइलसंबंध

पति शराबी है। अपनी जरूरतों के लिये मुझे दूसरों के आगे हाथ फैलाने पड़ते है।

मेरा नाम निकिता है। शादीशुदा हु। मेरे बच्चे बहुत छोटे है। पति शराबी है।

मै नौकरी नहीं करती। पति नौकरी करते है, मगर उनको शराब की लत है। मै बहुत परेशान हो गई हु।

कभी कभी वो अपनी औकात से ज्यादा शराब पीते है। घर में, बाहर झगड़ा करते है। कभी कभी मुझे

या बच्चों को मारते भी है। उनको 40000/- सैलरी है। मगर घर में हमारी बेसिक जरूरत के लिये भी

मुझे दूसरों के आगे हाथ फैलाना पड़ता है। आधी सैलरी ये शराब और दोस्तों में उड़ा देते है। वैसे वो

स्वभाव से बहुत अच्छे है। लोगों की मदद भी करते है। सारे रिश्तेदार उनको सराहते है। मगर शराब

पीने के बाद उनका विवेक खत्म होता है। शराब छोड़ने की उनकी खुद की भी बहुत इच्छा है, मगर

छोड़ नहीं पाते। क्या शराब छोड़ने का कोई उपाय है?

ये पढ़ा क्या ? पति को वश करने के लिये असरदार उपाय बताइये। मुझे पति पर शक है। – (myjivansathi.com)

हमारी सलाह : पति शराबी है।

किसी भी चीज की लत या आदत,जब हमें अपने वश में कर लेती है तो वह हमारी बर्बादी का कारण बनती है।

फिर चाहे वह,शराब की लत हो या किसी और नशे की।हम इस बात को बिलकुल भी नकार नहीं सकते कि

जब एक शराबी शराब का आदी हो जाता है तो उसको अपने पर नियंत्रण नहीं रहता।हमारे समाज में ऐसी

बहुत सी महिलाएं हैं जो अपने शराबी पतियों के जुल्मों से परेशान हैं और चाह कर  भी कुछ नहीं कर पाती।

लेकिन अगर वो थोड़ी सी भी हिम्मत करें तो अपने पति की शराब की लत छुड़वाने में बहुत हद तक मदद

कर सकती है क्योंकि अक्सर ऐसा होता है कि एक शराबी इस क़दर नशे की लत का आदी हो जाता है कि

वह चाहकर भी अपने आपको उस लत से छुड़वा नहीं पाता।आइए,बताते हैं आपको कि आप पति की

शराब की लत को छुड़ाने के लिए क्या कर सकती है।

पति शराबी है। तो आप कर सकती है ये उपाय 

घर का माहौल-

कई बार हमारे घरों की परेशानियों,या फिर लड़ाई झगड़े की वजह से भी,पति अक्सर शराब का सहारा

लेने लगते हैंऔर यही शराब उनका सहारा बनते बनते उनकी लत बन जाती है।अत: पत्नियों को

कोशिश करनी चाहिए कि घर पर उन्हें अनुकूल माहौल मिल पाए ताकि वो ख़ुद को शराब से दूर

रखने की कोशिश कर सके या फिर कह सकते हैं कि वो घर की परेशानियों से तंग आकर

शराब की तरफ ना जाएं ।

ग़लत संगत-

वो कहावत है ना कि ख़रबूज़े को देखकर खरबूजा रंग बदलता है,बस इसी कहावत की तरह ही

बहुत बार ऐसा होता है कि पति अगर शराब ना भी पीता हो तो भी गलत संगत में रहने की वजह

से शराब पीना शुरू कर देता है।तो आप समझदार है कि इतना तो आपका हक बनता है कि

आप उन्हें कुसंगति में जाने से रोक सकें।

योग –

जब किसी व्यक्ति को शराब की लत हो जाती है तो हम उस पर यह आरोप नहीं लगा सकते है कि

वह शराब क्यों नहीं छोड़ रहा है।हमें यह बात समझनी चाहिए कि उनका अपने आप पर नियंत्रण

ही नहीं है।पत्नी को चाहिए कि उन्हें योग और ध्यान मुद्रा का अभ्यास करने के लिए प्रेरित करें

ताकि वो अपने तंत्रिका तंत्र पर काबू पा सके।

भगवान का सहारा-

इस बात में कोई दोराहा नहीं है कि शराबी को जब शराब की लत लग जाती है तो वह रिश्तों की

झूठी कसमें खाने तक से भी गुरेज नहीं करते ।लेकिन उन्हें धार्मिक कार्यों में लगा कर या भगवान के

प्रति उन्हें पूजा पाठ और सेवा भावना में लगाकर उनकी शराब छुड़ाने की एक कोशिश की जा सकती है

क्योंकि किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व में परिवर्तन लाए बिना उनकी कोई भी लत छुड़ाना असंभव होता है।

दवाइयों का सहारा-

जब तक ख़ुद किसी व्यक्ति को अंदर से अपनी लत छोड़ने की प्रेरणा नहीं आती तब तक किसी

भी तरह की दवाइयां उस पर असर नहीं करती हैं।लेकिन फिर भी हम आयुर्वेदिक या होम्योपैथिक

दवाइयों का उपयोग कर सकते हैं।अक्सर देखा जाता है कि बिना किसी तरह की काउंसलिंग दिए,

डॉक्टर शराबी को दवाइयों सेवन करवाते रहते हैं जिसका कोई नतीजा नहीं निकलता।

बड़े बुजुर्गों या सामाजिक संगठन की सहायता-

हमारे परिवार में कोई ना कोई ऐसा व्यक्ति ज़रूर होता है जिसकी बात पति नहीं टालते तो हम उन

से या किसी सामाजिक संगठन द्वारा काउंसलिंग प्रदान करके भी शराब को छुड़ाने में मदद ले सकते हैं।

कानूनी अधिकार –

जिस दिन पहली बार आपके पति शराब पीकर घर आते हैं, उसी दिन से उनका विरोध करें क्योंकि

यही शराब बाद में घरेलू हिंसा का कारण भी बनती है ।इसलिए बेझिझक होकर अपने अधिकार

का इस्तेमाल करें और पुलिस को बुलाएँ क्योंकि शराब पीकर हुड़दंग करने वालों को पुलिस विभिन्न

धाराओं के तहत गिरफ्तार कर सकती है और उन्हें परामर्श केंद्र ले जाकर काउंसलिंग भी करवाती है।

शराब का न केवल हमारे लीवर पर प्रभाव पड़ता है बल्कि यह कैंसर का कारण भी बनती है।

इसके लिए कभी भी शौकिया तौर पर शराब का सेवन न करें क्योंकि यही शौक बाद में जानलेवा भी हो सकता है।

इसके अलावा कुछ घरेलू नुस्खों जैसे की अजवाइन का शरबत,खजूर का शरबत या कुछ ताज़े फलों

जैसे की संतरा,केला और नींबू से भी शरीर में जमा हुए अल्कोहल के तत्व को बाहर निकालने में मदद मिलती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.