त्योहारनिजी सीक्रेटपरंपरामनोरंजनरहन सहनरिलेशनशीपरिव्यूसंबंधसलाह / मार्गदर्शन

रक्षाबंधन के दिन अपने अकेलेपन को कैसे दूर करूँ?

बचपन में मेरा भाई एक accident में गुजर गया। भाई की कमी महसूस होती है। रक्षाबंधन के दिन अकेले में रोती हूं। रक्षाबंधन के दिन अपने अकेलेपन को कैसे दूर करूँ? क्या करूँ ?

हमारी सलाह : भाई बहन का अनोखा त्यौहार : रक्षाबंधन

हमारे भारत देश में रक्षाबंधन के त्यौहार का बहुत ज्यादा महत्व है क्योंकि यह एक ऐसा त्यौहार है जो केवल भाई एवं बहन पर आधारित होता है। यह त्योहार बहुत अनोखा त्यौहार है और इस त्यौहार का महत्व भी बहुत ज्यादा है।

रक्षाबंधन के त्यौहार में यदि भाई के पास बहन ना हो और बहन के पास भाई ना हो। तो फिर इस त्योहार का कोई मतलब नहीं रह जाता है। हालांकि बहुत सारे लोग भाई ना होने पर श्री कृष्ण भगवान के पास राखी रखते हैं या उनको राखी पहना देते हैं।

लेकिन जिन भाई के पास बहन ना हो। तो वह कुछ भी नहीं कर पाते हैं।

भाई का आशीर्वाद सदैव आपके साथ है

आपने जो भी गाथा अपनी सुनाइए है। इन बातों को सुनकर हमें भी बहुत दुख पहुंचा है। हम आपका दुख समझ सकते हैं। भाई को खोना क्या होता है। इस दर्द को हम समझ सकते हैं। लेकिन आप बिल्कुल भी दुःखी मत होइए। आपके भाई जहां भी होंगे वह बहुत खुश होंगे और आपको दूर से ही आशीर्वाद देते होंगे।

रक्षाबंधन के त्यौहार पर आपका उनको मिस करना जायज है क्योंकि वह आपके भाई थे। कोई भी बहन अपने भाई को रक्षाबंधन के दिन याद ना करें ऐसा हो ही नहीं सकता है।

रक्षाबंधन के दिन राखी का त्योहार ज़रूर मनाइए

रक्षाबंधन के त्यौहार के दिन बिल्कुल भी उदास मत होइए। आप अगर उदास होंगे तो आपके भाई भी आपको देखकर उदास होंगे। इसलिए इस दिन को उसी तरीके से मनाइए। जिस तरीके से आप भाई रहते वक्त मनाती थी। सुबह उठिए स्नान कीजिए, नए कपड़े पहने, पहले दिन बाजार जाकर राखी और मिठाई लेकर आइए और भाई की तस्वीर के सामने पूजा करके उनकी तस्वीर पर ही राखी को पहना दीजिए

राखी को पहनाने के बाद मन ही मन ईश्वर से प्रार्थना कीजिए कि आपके भाई जहां भी हो। वह ठीक रहे ईश्वर उन को शांति प्रदान करें। ऐसा बोल कर अपने भाई की तस्वीर पर राखी पहना दिजिए। रक्षाबंधन को उसी तरीके से मनाने की कोशिश कीजिए, जिस तरीके से आप अपने भाई के रहते राखी को मनाती थी। ऐसा करने के बाद दिखिएगा। आपको बहुत अच्छा महसूस होगा और आप अपने भाई को याद करके उदास भी नहीं रहेंगी।

चाहे तो श्री कृष्ण भगवान को भी राखी पहना सकती हैं

दुनिया में ऐसे भी बहुत सारे लोग हैं। जिनका कोई भाई नहीं है। ऐसे लोग श्री कृष्ण भगवान के समक्ष राखी खरीद कर रखते हैं और उन्हें पहनाते भी हैं और अपना रक्षाबंधन सेलिब्रेट भी करते हैं।

यदि आप चाहें तो अपने भाई की तस्वीर के साथ श्री कृष्ण भगवान के पास भी राखी, रखकर उन्हें पहना सकती है।

जिंदगी में हादसे होते रहते हैं। लेकिन उन हादसों से हार नहीं मानना है। बल्कि आगे बढ़ना है। अभी का युग प्रतियोगिता का युग है। इस युग में प्रतियोगिता हर दूसरे तीसरे व्यक्ति से व्यक्ति की होती रहती है।

लेकिन आपके भाई का कंपैरिजन किसी और से नहीं होगा क्योंकि आपके भाई अपने आप में अनोखे थे। वह आपके लिए और आपके परिवार के लिए अनोखे थे।

दुनिया की रीत ऐसी ही है। इस दुनिया में भगवान अच्छे लोगों को भेजते तो है। लेकिन वह जल्दी अपने पास बुला लेते हैं। आपके भाई भी अच्छे व्यक्तियों में से एक होंगे। यदि आप अकेलेपन को दूर करना चाहती हैं। तो अपने भाई की तस्वीर से रोजाना बात करना शुरू कीजिए। देखिएगा 1 दिन ऐसा आएगा जब आपको ऐसा लगेगा कि आपके भाई तस्वीर से बाहर निकल कर ही आप से बात करेंगे। 

रक्षाबंधन के दिन कहीं बाहर जाने का प्लान कीजिए

रक्षाबंधन के दिन सुबह अपने भाई की तस्वीर पर राखी बांधकर, फिर श्री कृष्ण भगवान को भी राखी बांधिएं। जयपुर उस दिन के लिए कुछ अच्छा सा प्लान कीजिए। घर से बाहर अब घूमने के लिए निकल जाइए। जब आप घर से बाहर होगी तो आपको अपने भाई की याद नहीं आएगी। आपको अपने भाई का भी ध्यान नहीं रहेगा और आप अच्छे से घूम आएंगी। उस दिन जितना हो सके घर से बाहर रहने की कोशिश कीजिए। घर में रहेंगी। तो आपको बार-बार अपने भाई की याद आएगी और आप उदास हो जाएंगी। इसके बारे में सब का मन भी अच्छा होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.