तनावनिजी सीक्रेटमनोरंजनमहिला स्वास्थरिलेशनशीपसंबंध

बहन लड़कों से फ़्लर्ट करती है।

मेरा नाम निधि है। मै शादीशुदा हु। मै और पति दोनों नौकरी करते है। मेरी बहन लड़कों से फ़्लर्ट करती है।

इस बात से मै बहुत चिंतित हु। मुझे उसका भविष्य बहुत कठिन लग रहा है। मेरी बहन ने 4 लड़कों

को शादी का वचन दिया है। सबसे महंगे महंगे गिफ्ट लेती रहती है। कहीं वह किसी संकट में न फस जाये

किसी भी लड़की के लिए अच्छा चरित्र ही सबकुछ होता है। ऐसे लड़कों के भावनाओ का मजाक बनाना ठीक

बात नहीं है। अगर यह बात मैंने माँ या पापा को बता दी, तो घर में बवाल मचेगा। और वह मुझसे बात करना

छोड़ देगी। ऐसा क्या किया जाए की, वह सुधर भी जाये, और हमारे संबंध भी खराब न हो ?

हमारी सलाह : बहन लड़कों से फ़्लर्ट करती है।

चरित्र किसी भी व्यक्ति की, छवि को बनाता है।  लेकिन कुछ लोगों को, अपनी छवि की परवाह ही नहीं होती। 

क्योंकि लोग आजकल चरित्र हीनता को भी, मॉडर्न होने का नाम दे रहे हैं।

 लड़के ही नहीं, बल्कि लड़कियां भी इस मामले में पीछे नहीं है। 

पहले माना जाता था कि, सिर्फ लड़के ही लड़कियों को बहला फुसला लेते हैं। 

परंतु अब लड़कियों ने भी, इसे फैशन बना लिया है। 

एक साथ चार चार लड़कों को डेट करना, उनके लिए कोई बड़ी बात नहीं है।

 अधिकतर लड़कियां तो सिर्फ, महंगे तोहफे पाने के लिए ही लड़कों से रिश्ते बनाती हैं।

 वैसे तो परिवार का कोई भी सदस्य, इस बात को सहन नहीं कर पाता है। 

लेकिन भाई के लिए अपनी बहन का, यह चरित्र चिंता का विषय होता है। 

अगर आप भी, इसी तरह की समस्या से जूझ रहे हैं। तो यह सलाह मशविरा है, आपके काम का। 

इस बर्ताव के पीछे कारण क्या है?

 अगर देखा जाए, इस चरित्र हीनता के पीछे कई कारण हो सकते हैं। आधुनिकता तो नैतिक मूल्यों के,

पतन का कारण है ही। इसके अलावा, कौन से कारण है। आइए करते हैं, चर्चा…

नैतिक मूल्य का अभाव  चरित्र हीनता का प्रमुख कारण, नैतिक मूल्यों के प्रति नासमझी ही है। 

उनकी नैतिकता की शिक्षा, स्कूलों में नहीं मिलती है। इसकी शुरुआत घर में, माता-पिता से ही होती है।

समाज में लड़कियों से, इस विषय पर बात करने में शर्म महसूस की जाती है।

 अगर एक उम्र की दहलीज पर बच्चों को, इस विषय में जानकारी दी जाए। 

कि आपके चरित्र के लिए क्या सही है, और क्या गलत। 

तो कोई भी लड़की हो सकता है, इस रास्ते पर ना चले। लेकिन पहले, मां-बाप ध्यान नहीं देते हैं।  

पर बाद में,  सिर्फ पछताते हैं।  धार्मिक शिक्षा का अभाव किसी भी व्यक्ति के चरित्र में, धार्मिक शिक्षा का

बहुत योगदान होता है।  क्योंकि धार्मिक शिक्षा किसी भी व्यक्ति को, हर गलत कार्य से रोकती है।

आजकल की मॉडर्न जीवनपद्धती

 लेकिन आजकल लोग अपनी आजादी को, ज्यादा महत्व देने लगे हैं। 

परिणाम स्वरूप, गलत रास्ते पर जाना तो संभावित है। 

क्योंकि धर्म में गलत आचरण करने पर, दुष्परिणाम भी बताए जाते हैं। 

लेकिन अगर कोई धर्म से जुड़े ही नहीं, तो धार्मिक शिक्षा कैसे मिलेगी?

कुछ लड़कियां, अपने स्वार्थ पूर्ति को महत्व देती है। 

उन्हें सिर्फ अपनी भोग विलास की, जरूरतों से मतलब होता है। 

इस मामले में वह किसी की, भावनाओं से खेलने से भी गुरेज नहीं करती हैं।

 उन्हें बाहर की चमचमाती दुनिया, ज्यादा पसंद आती है। 

इसी जिंदगी को जीने के लिए, वह लड़कों का सहारा लेती है।

 फिर चाहे उन्हें गलत रास्ता ही, क्यों ना चुनना पड़े।

इस समस्या के लिए अपनाएं यह उपाय

रखें थोड़ा कंट्रोल आजादी से जिंदगी जीना, सभी को पसंद होता है। 

लेकिन थोड़ा बहुत प्रतिबंध, तो हर किसी के लिए जरूरी है।  फिर चाहे वह, महिला हो या पुरुष।

 अगर आप और आपका परिवार, उन पर थोड़ी सी भी पाबंदी लगाने की कोशिश करें।

 तो हो सकता है, वह सही रास्ते पर आ जाए। लड़कों की सोच के बारे में बताएं

 अपनी बहन को बताएं कि, इस तरह लड़कों से ज्यादा मेलजोल ना रखें। 

यह उसके लिए, कितना घातक सिद्ध हो सकता है। इसके भविष्य में भी, उसे क्या परिणाम भुगतने पड़ेंगे। 

आपको न्यूज़ में, ऐसी बहुत सी घटनाएं  मिल सकती है। जिसके बारे में जानकारी देकर, सही जिंदगी दे सकते हैं। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.