धार्मिकवास्तुशास्त्र

धन वृद्धि के लिए उपाय । पैसा ही पैसा बरसेगा

धन वृद्धि के लिए उपाय यह सच है कि पैसा खुदा तो नहीं मगर खुदा से कम भी नहीं है।

अन्न , वस्त्र और आवास जैसी अपनी मुख्य करूरते पूरी करने के लिये इसकी आवश्यकता होती है।

इसके अतिरिक्त, यह ज्यादातर लोगों की खुशी से जुड़ा हुआ है क्योंकि हमें घर खरीदने ,

होटल में खाने, स्वास्थ्य देखभाल और बच्चों की शिक्षा के लिए पैसों की आवश्यकता है …

सेवानिवृत्ति के लिए भी कुछ बचाने की जरूरत होती है , पैसे के उपयोग से बहुत कुछ किया जा सकता है।

यही कारण है कि इसकी कमी से तनाव, चिंता बढ़ सकती है, जिसका सीधा असर रिश्तों पर पड़ सकता है।

वास्तु शास्त्र में कुछ उपाय दिए गए है, जो आपके घर को एक खुशहाल बनाने में मदद कर सकते हैं।

वास्तु के सिद्धांत दिशाओं पर आधारित हैं, इसलिए आप आरंभ करने के लिए एक छोटे से कंपास का उपयोग करें।

वैकल्पिक रूप से, आप किसी इंटीरियर डेकोरेटर या आर्किटेक्ट से संपर्क कर सकते हैं जो वास्तु में विशेषज्ञता रखता है।

ये भी पढे : महत्वपूर्ण हिन्दू त्योहार वटपूर्णिमा । बढ़ाये अपने साथी की उम्र – My Jivansathi

धन वृद्धि के लिए उपाय : कमरों में सही रंग

रंग हमारे मूड को प्रभावित कर सकते हैं। यह एक त्रिकालबधित तथ्य है। वास्तु के अनुसार किसी विशेष दिशा में

ऊर्जा बढ़ाने में रंग की भूमिका होती है। उत्तर पूर्व दिशा को घर में सबसे पवित्र दिशा माना जाता है क्योंकि यह

भगवान से जुड़ी होती है। इसलिए इस क्षेत्र में सकारात्मक ऊर्जा का निर्माण करने से धन, स्वास्थ्य और समृद्धि में वृद्धि होगी।

घर के उत्तर पूर्व भाग के लिए सबसे अच्छा रंग हल्का नीला है क्योंकि यह छाया मन को उत्तेजित करता है

और रचनात्मकता और सकारात्मक सोच को बढ़ा सकता है।

वास्तु शास्त्र में एक रंग चार्ट होता है जो दिशा के आधार पर सही छाया निर्धारित करता है। इसके अनुसार,

उत्तर के लिए हरा, पूर्व के लिए सफेद, पश्चिम के लिए नीला और दक्षिण के लिए लाल है, लेकिन जाहिर है कि

पूरे घर में अलग-अलग रंगों को चित्रित करना सौंदर्यशास्त्र से दूर ले जाएगा। आमतौर पर वास्तु में डार्क या

बोल्ड शेड्स के ऊपर लाइट शेड्स का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

जल का स्थान

पानी की टंकी घर में सुखदायक तत्व ला सकती हैं, उनका स्थान आपके धन को प्रभावित कर सकता है।

वास्तु स्विमिंग पूल और तालाबों सहित जल निकायों के लिए उत्तर, उत्तर पूर्व या पूर्व को सर्वोत्तम स्थान के

रूप में निर्धारित करता है। यदि आपके पास एक फव्वारा या बहते पानी का एक पिंड है, तो सुनिश्चित करें

कि पानी उत्तर से पूर्व की ओर चलता है। कई घरों में भूमिगत पानी की टंकी है। वास्तु से पता चलता है कि

टैंकों के लिए सबसे अच्छा स्थान फिर से उत्तर, पूर्व या उत्तर पूर्व में है। हालाँकि, भूमिगत पानी की टंकी के

लिए वास्तु का अनुसरण करते समय, आपको यह याद रखना चाहिए कि यदि टैंक जमीनी स्तर से ऊपर हैं,

तो उन्हें घर के दक्षिण, दक्षिण पूर्व या दक्षिण पश्चिम भाग में रखा जा सकता है। अत: वास्तु के अनुसार

पानी की टंकी को धन के प्रवाह को बढ़ाने के लिए इन स्थानों पर ही रखना चाहिए।

तिजोरियां और नकद लॉकर

यदि आपके घर में तिजोरी है, तो वास्तु के अनुसार उसके लिए सही स्थान दक्षिण या दक्षिण पश्चिम दिशा में

है। इसके अतिरिक्त, बेडरूम में लॉकर के लिए वास्तु के नियम यह सलाह देते हैं, कि जब तिजोरी खोली जाए,

तो उसका मुख उत्तर की ओर होना चाहिए। तिजोरी या तिजोरी के सामने दर्पण लगाने से भी मदद मिलती है,

क्योंकि एक बार खोलने पर यह आपके धन को प्रतिबिंबित करेगा, जो आपके धन के दोगुने होने का प्रतीक है।

हरियाली

घर में मनी प्लांट जरूर लगाएं क्योंकि इससे आपके घर में खुशहाली आएगी। आदर्श रूप से, पौधे को इसके

प्रभाव को बढ़ाने के लिए हरे प्लांटर या गमले में रखा जाना चाहिए। यदि आपके घर में बगीचे के लिए जगह की कमी है,

तो कम से कम अपने घर के उत्तरी भाग में हरे-भरे हरियाली के साथ एक पेंटिंग शामिल करने का प्रयास करें,

चाहे वह धान के खेत हों या जंगल, क्योंकि इससे आपके करियर में सुधार होगा। अतिरिक्त आय में योगदान होगा।

साफ और गंदगी मुक्त घर

आपके घर को हमेशा साफ रखा जाना चाहिये। स्वच्छ और अव्यवस्था से मुक्त, विशेष रूप से उत्तर दिशा,

जो धन के साथ जुड़ा हुआ है। घर के इस हिस्से में कोई भारी फर्नीचर या उपकरण न रखें और इस हिस्से

में सीढ़ियां लगाने से बचें क्योंकि इससे धन का प्रवाह अवरुद्ध होगा।

एक सुंदर प्रवेश द्वार

घर का प्रवेश द्वार न केवल आपके आगंतुकों पर पहली छाप बनाता है, बल्कि आपके घर में ऊर्जा के प्रवाह

को भी प्रभावित करता है। प्रवेश द्वार को अव्यवस्था मुक्त रखें। इसे भव्य और सुरुचिपूर्ण दिखने के लिए सजाएं

ताकि यह सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करे और आपके घर में धन और समृद्धि लाए।वास्तु शास्त्र के अनुसार

आपके घर का केंद्र सबसे शुभ क्षेत्र है। इसलिए जरूरी है कि इसे अव्यवस्था मुक्त रखा जाए।

दरवाजे और खिड़कियां

दरवाजे और खिड़कियां आपके घर में प्राकृतिक रोशनी और ताजी हवा को आमंत्रित करते हैं। वहीं वे

ब्रम्हांड में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने में भी भूमिका निभाते हैं। इसलिए, दरवाजे और खिड़कियों पर

शीशे को हमेशा साफ रखना महत्वपूर्ण है, अन्यथा कांच पर गंदगी और दाग आपके घर में धन के

मुक्त प्रवाह में बाधा डाल सकते हैं। खिड़कियों और पैनलों को साफ रखें

टपकने वाला नल

आपके घर में टपकने वाले नल न केवल पानी की बर्बादी करते हैं, बल्कि वास्तु शास्त्र के अनुसार,

वे आपके घर से धन की कमी का भी प्रतीक हैं। पैसे की हानि को रोकने के लिए किसी भी रिसाव

के पहले संकेत पर नल और नल को ठीक करना महत्वपूर्ण है।

एक्वेरियम

वास्तु शास्त्र के अनुसार आपके घर की उत्तर पूर्व दिशा में एक्वेरियम होने से आपके धन में वृद्धि होती है।

घर बनाने से पहले आप इस दिशा में एक्वेरियम का प्रावधान कर सकते हैं।एक्वेरियम हमेशा साफ हो अन्यथा,

यह आपके वित्त पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

लेकिन अगर आप एक अपार्टमेंट या मौजूदा घर खरीद रहे हैं, तो हो सकता है कि आप संरचना या लेआउट को बदलने में

सक्षम न हों। अगर ऐसा है तो घबराएं नहीं। वास्तु शास्त्र में कुछ सरल उपाय या इलाज भी हैं जिनका उपयोग आप

अपने घर में किसी भी दोष को ठीक करने के लिए कर सकते हैं, चाहे वह शौचालय का अशुभ स्थान हो

या आपके घर का प्रवेश द्वार जिस दिशा में हो।

ध्यान रखने योग्य कुछ अन्य वास्तु टिप्स

वास्तु शास्त्र के दिशा-निर्देशों के अनुसार, प्रत्येक लिविंग रूम में ऐसी घड़ियाँ होनी चाहिए जो उचित

स्थिति में हों और सही समय प्रदर्शित करती हों। गैर-काम करने वाली या टूटी हुई घड़ियाँ आपके

वित्त को एक ठहराव में ला सकती हैं, जबकि धीमी गति से काम करने वाली घड़ियाँ जीवन में

आपके व्यक्तिगत विकास को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकती हैं। इसलिए, अपने वित्त

को बढ़ाने के लिए, आपको सभी दीवार और टेबल घड़ियों को चालू स्थिति में रखना चाहिए।

घर के लिए सही वास्तु रंगों का चयन करने के साथ-साथ अपनी रसोई को साफ-सुथरा रखने से

आपका घर स्वस्थ और समृद्ध हो सकता है। स्वच्छ रसोई घर के सभी वर्गों में सकारात्मक ऊर्जा

के प्रवाह को बढ़ाती है और नकारात्मक ऊर्जा को अंदर प्रवेश करने से रोकती है। वातावरण में

यह सामंजस्य आय के नियमित प्रवाह के लिए भी जिम्मेदार हो जाता है।

धन वृद्धि के लिए उपाय आपने देखे। वास्तुशास्त्र के बारे में आपकी क्या राय है ? जरूर बताए।

आप इनमें से कौन सा टिप्स घर पर आजमाएंगे? टिप्पणियों में अपनी प्रतिक्रिया दें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *