इतिहासट्रेंडिंगधार्मिकरिलेशनशीपशादी विवाह

तलाक शुदा औरत से कौन शादी करते हैं?

शादी सबका अपना स्वयं का फैसला होता है। शादी के समय लोग अपने अनुसार ही जीवन साथी चुनने के अधिकारी होते हैं। लेकिन यहां पर बात की जा रही है कि उन औरतों से कौन शादी करता है। जो पहले से ही तलाकशुदा होती है। तलाकशुदा औरतें भी चाहती है कि वह अपनी जिंदगी को एक नए सिरे से आरंभ करें।

जब वह अपनी जीवन साथी ढूंढने की तलाश में निकल पड़ती है। तो उन्हें विभिन्न समस्याओं का सामना भी करना पड़ता है। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि उन्हें अपने जीवन में दूसरा जीवन साथी नहीं मिलता है, मिलते हैं उन्हें जीवन साथी। तो आइए जानते हैं कि वह लोग कौन होते हैं। जो तलाकशुदा औरतों से शादी करने के लिए खुशी-खुशी राजी हो जाते हैं।

जिनको कोई फर्क नहीं पड़ता कि सामने वाला तलाकशुदा है

दो तरह के ही लोग होते हैं। एक जिन्हें दूसरे के जिंदगी में क्या हो रहा है नहीं हो रहा है। उन सब चीजों से बहुत फर्क पड़ता है। दूसरे होते हैं वह जिन्हें किसी और की जिंदगी में क्या हो रहा है नहीं हो रहा है। उनसे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता। ऐसे लोग ही उन महिलाओं से शादी करते हैं। जो तलाकशुदा होती हैं क्योंकि ऐसे लोगों को कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह जिस से शादी करने जा रहे हैं। वह तलाकशुदा है या नहीं है। वह बस सामने वाले के इंसानियत, उसके व्यक्तित्व को पहचानते हैं और शादी कर लेते हैं।

कुछ लोगों की प्रायरिटी होती है तलाकशुदा औरतें

बहुत से लोग अपने विचारों से पूरी तरह से अलग होते हैं। ऐसे लोग किसी ऐसे व्यक्ति से शादी करना चाहते हैं जो या तो विधवा है या तो तलाक शुदा है या तो अनाथ है या फिर जिनका कोई घर परिवार नहीं है। ऐसे अच्छे विचार वाले लोग खुशी-खुशी किसी भी तलाकशुदा औरत को अपना लेते हैं और उनसे आजीवन बहुत प्यार करते हैं।

जो खुद तलाकशुदा होते हैं

ऐसा तो नहीं है ना की केवल महिलाएं ही तलाकशुदा होती हैं। पुरुष भी ऐसे होते हैं। जो तलाकशुदा होते हैं। तलाकशुदा पुरुष भी कई बार अपने जीवन में ऐसे व्यक्ति की तलाश करते हैं जो पहले से ही तलाकशुदा होती हैं। एक तलाकशुदा व्यक्ति ही दूसरे तलाकशुदा व्यक्ति के जीवन को अच्छे से समझ सकता है और ऐसे लोगों की बॉन्डिंग भी बहुत अच्छी होती है।

जो विदूर होते है

बहुत बार तलाकशुदा औरतों का विवाह। ऐसे लोगों से होता है जो विदूर है। एक विदूर अक्सर बच्चों के पिता भी होते हैं। पत्नी की मौत के बाद वह बच्चों को कैसे संभालेंगे। इस सोच में पड़ कर ही वह शादी कर लेते हैं। ज्यादातर विदुर की पहली मान्यता होती है तलाकशुदा औरतें। तलाकशुदा औरत बहुत अच्छे से बच्चे की परवरिश कर पाती हैं। कारण कई बार ऐसा होता है की तलाकशुदा औरतें भी बच्चों की मां होती हैं और उन्हें भी अपने बच्चे के लिए पिता की जरूरत होती है। इसलिए वह खुशी-खुशी एक विदूर से शादी कर लेती हैं।

इस तरह से एक तलाकशुदा औरत का विवाह हो जाता है। यदि तलाकशुदा औरतें खुद से पति ढूंढते हैं, तो समाज में उन्हें बहुत सारे लोग बुरा भला कहते हैं। लेकिन इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता क्योंकि जीवन में सब को आगे बढ़ने का अधिकार है और किसी की बातें उन्हें आगे बढ़ने से रोक नहीं सकती।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.