आधुनिकतनावदुनियाबिजनेसबीमा-गिरवी-ऋणभविष्य

गांव में रहने वाली महिलाओं के लिये बिजनेस आइडिया

शहरी क्षेत्रों की तरह, ग्रामीण क्षेत्रों में भी कई सारे व्यावसायिक अवसर हैं। भारत देश का अधिकतर गांव कृषि क्षेत्र में योगदान देता है। जो आगे चलकर देश की अर्थव्यवस्था के विकास में मदद करता है। गांवों में व्यवसाय शुरू करने के लिए, व्यवसाय के मालिकों को सख्त नियमों, विस्तृत कागजी कार्यवाही, उच्च बुनियादी ढांचे, उन्नत उपकरण आदि के बारे में चिंता नहीं होती है।

गांव में रहने वाली महिलाओं के लिये बिजनेस आइडिया

गांवों में लोग या तो कृषि उद्योग में योगदान करते हैं या प्रमुख रूप से खुदरा, पशुधन, व्यापार और विनिर्माण क्षेत्रों से संबंधित व्यवसायों में लगे हुए होते हैं। गांवों में छोटे या बड़े व्यवसाय के मालिक अवसरों से रहित नहीं हैं, क्योंकि उनके पास शुरू करने, बढ़ाने, विस्तार करने और फलने-फूलने के लिए पर्याप्त व्यवसाय मौजूद होते हैं। 2022 में घर बैठे घरेलू महिलाओं के लिए बिजनेस आइडिया

आज हम बात करने वाले हैं ग्रामीण क्षेत्रों में कुछ ऐसे व्यवसाय स्थापित करने के विषय में। जिस व्यवसाय को गांव की महिलाएं आराम से कर सकती हैं एवं महीने के ₹50000 भी कमा सकती हैं। गांव की महिलाओं के लिए 10 बिजनेस

फुटकर दुकान (Wholesale shop)

ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली महिलाएं, आज के समय में भी जैसा खाना बनाती है। जैसे पकवान बनाती है। वह शहर में रहने वाले लोगों से 10 गुना अच्छा एवं बेहतर क्वालिटी वाला होता है। ऐसे में यदि गांव क्षेत्र की महिलाएं कोई बिजनेस स्थापित करना चाहती है। जो खानपान से जुड़ा हो तो वह आसानी से स्थापित कर सकती हैं एवं अपने हाथ की कारीगरी के जरिए वह महीने के ₹50000 कमा सकती है। जैसे- वह मिठाई की दुकान खोल कर अपने हाथों से अच्छी मिठाई बनाकर बेच सकती है। शुरु-शुरु में मिठाई की बिक्री कम होगी। फिर जैसे ही लोगों को मिठाई का स्वाद मिलेगा वह दुकान से ना केवल मिठाई खरीदेंगे। बल्कि आर्डर भी करेंगे।

छोटे पैमाने पर भी निर्मित होने वाली वस्तु

गांव की महिलाएं घर के कामकाज के साथ-साथ छोटे पैमाने पर निर्मित होने वाले वस्तुओं को भी तैयार कर अच्छा खासा कमाई कर सकती हैं। छोटे पैमाने पर निर्मित होने वाले वस्तु को शुरू करने के लिए ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को ज्यादा कुछ नहीं करना होगा। बस बाजार से कच्चे माल लाना है और उन्हें तैयार कर किसी दुकान में जाकर बेच देना है और यह सभी सामान रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग होने वाले सामान होंगे। जिसका प्रयोग हर दिन हर घर में किया जाता है। जिसके नाम कुछ इस प्रकार है- अगरबत्ती, मोमबत्ती / माचिस, पेपर कप/पेपर प्लेट, पैकेजिंग उत्पाद, डिस्पोजेबल बैग, आदि।

इन उत्पादों का शहरी क्षेत्रों में भी एक बड़ा बाजार है, जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में कच्चा माल प्रचुर मात्रा में मिलता है। ग्रामीण क्षेत्र से ही शहरी क्षेत्रों में यह माल तैयार होकर जाते हैं और बिकते हैं। इसलिए घर बैठकर ग्रामीण क्षेत्रों में पैकेजिंग का काम किया जा सकता है। बस कच्चे माल उठाकर उसे बनाकर बेचना है। घरेलू महिलाओं के लिए बिजनेस आइडिया 2022

कपड़े की दूकान

खास मौकों पर या रोजमर्रा के जीवन में प्रयोग किए जाने वाले कपड़ों को खरीदने के लिए गांव के लोग अक्सर बड़े शहरों की यात्रा करते हैं। इसलिए क्योंकि गांव में शहरों जैसे कपड़ों के दुकान नहीं होते। वहीं शहरों में अच्छे ब्रांड के कपड़े आसानी से मिल जाते हैं। यदि ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं नवीनतम फैशन, डिजाइन और कपड़ों की शैली प्रदान कर सकती हैं, तो गांवों और छोटे शहरों में उत्पादों की अच्छी मांग होगी। इतना ही नहीं महिलाएं सिलाई सेवाओं की व्यवस्था भी कर सकती हैं और स्टोर पर ग्राहकों के लिए हस्त निर्मित उत्पाद भी प्रदान कर सकती हैं। 50+कम पैसे में 12 महिनें चलने वाला बिजनेस

किराना स्टोर के साथ व्यापार

गांव में किराना स्टोर की मांग बहुत ज्यादा है। गांव में दूर-दूर तक ऐसी जगह होती है। जहां पर किराना स्टोर देखने को नहीं मिलता है। अन्यथा अभी भी भारत देश के कुछ गांव को विकसित होने में वक्त लगेगा। यदि गांव की महिलाएं चाहें तो खुद का किराना स्टोर खोल सकती है और महीने में ₹50000 के आसपास कमा सकती है और अगर आप इन उत्पादों को गांव में बेच सकते हैं तो शायद आपको अच्छी खासी आमदनी भी होगी।

खानपानटाइम पासभ्रमण

फल और सब्जियां बेचने की दुकान

यह एक और सरल और सबसे आम व्यवसाय है। जिसे गांवों में शुरू किया जा सकता है। इस काम को शुरू करने के लिए महिलाओं को डायरेक्ट थोक बाजार जाना होगा और कम कीमत पर सब्जियों और फल को खरीदना होगा। फिर अपने दुकान पर ज्यादा कीमत पर बेचकर मुनाफा कमाना होगा।

पीने के पानी की डोर-टू-डोर सर्विस

स्वच्छ पेयजल सभी को चाहिए। लेकिन आज के समय में स्वच्छ जल बहुत कम ही उपलब्ध होता है। इसलिए हर घर में प्यूरीफायर वॉटर फिल्टर की जरूरत होती है। यदि गांव में रहने वाली महिलाएं नलकूपों या हैंडपंपों से ताजे पानी को बड़े डिब्बे में जमा कर उसे फिल्टरेट कर फिर गांव के लोगों को उनके दरवाजे तक पहुंचा सकते हैं। पानी पहुंचाने के लिए महिलाएं प्रति जार या प्रति कैन चार्ज कर सकते हैं। इस व्यवसाय में आपको अन्य व्यवसायों की तुलना में बहुत कम निवेश की आवश्यकता होती है।

तेल का व्यापार

लगभग किसी भी खाना पकाने की परियोजना के लिए तेल आवश्यक होता है। कीमतें भी इतनी बढ़ रही हैं कि लोग तेल को खरीद नहीं रहे। कुछ लोग अपनी आपूर्ति से प्राकृतिक तेल प्राप्त करना पसंद करते हैं। गांवों में, खेतों में नारियल के पेड़ों की काफी मात्रा होना आम बात है। मूंगफली, सूरजमुखी और ताड़ के तेल ऐसे उत्पाद हैं जो लोग चाहते हैं।

एक गाँव में एक तेल मिल शुरू करने से उसका निवास नारियल जैसे उत्पादों को तेल में बदलने में सक्षम होता है। इन्हें सामान्य रूप से त्याग दिया जाएगा और आवश्यक तेल खरीदें जाएंगे। इसका मतलब है कि लोगों को शहर की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी और गांव के भीतर ही उनकी पहुंच होगी।

हैंड मेड सामान

एक और अपेक्षाकृत आसानी से शुरू होने वाला छोटा व्यवसाय है- हस्त निर्मित साबुन और मोमबत्तियां है। हैंड मेड सामान के लिए किसी अर्जित कौशल की आवश्यकता नहीं होती है और इसे समय के साथ दूसरे द्वारा सीखा भी जा सकता है। लोगों को काम पर रखा जा सकता है और अंत में, हस्तनिर्मित साबुन का आपका ब्रांड एक वास्तविकता बन सकता है।

वही मोमबत्ती बनाने के लिए भी किया जाता है। सुगंधित और सस्ती हस्तनिर्मित मोमबत्तियां तेजी से बिक सकती हैं। आप अपने उत्पाद को अपने स्वयं के स्टोर या क्षेत्र के अन्य खुदरा विक्रेताओं के माध्यम से वितरित कर सकते हैं। आपके प्रदर्शन के आधार पर, यह एक स्केलेबल व्यवसाय है।

दूध केंद्र

दुग्ध केंद्र शुरू करने के लिए, किसी महिला को व्यवसाय करने के लिए डेयरी फार्म से संपर्क करने की आवश्यकता होती है। दूध केंद्र मूल रूप से गांव से दूध एकत्र करते हैं और इसे डेयरी फार्मों को बेचते हैं। दुग्ध केंद्रों को व्यवसाय शुरू करने के लिए बहुत कम उपकरणों की आवश्यकता होती है। जिसमें वजन मशीन, बिलिंग सॉफ्टवेयर इत्यादि शामिल होता हैं। दूध वसा और अन्य संबंधित उत्पादों की मात्रा को मापने के लिए वजन मशीनों की आवश्यकता होती है। चूंकि गांवों में गाय और भैंस पालना आम है, गांवों में दूध केंद्र अच्छा मुनाफा ला सकता हैं।

खानपान का व्यवसाय

जो महिलाएं खाना बनाना पसंद करती हैं और हमेशा से शेफ बनना चाहती हैं। उनके लिए यह एक बेहतरीन मौका हो सकता है। यह बहुत फायदेमंद हो सकता है अगर आप कुछ छोटे व्यवसाय जानते हैं क्योंकि खानपान के रूप में लाभदायक होना पहली बार में चुनौतीपूर्ण हो सकता है। एक बार, आपको अंदाजा हो जाता है कि चीजें कैसे काम कर रही हैं। आप इस व्यवसाय को बढ़ावा दे सकते हैं। कारण भविष्य में आपको कोई भी जन्मदिन पार्टियों, वर्षगाँठ, और किटी पार्टियों आदि के लिए ऑर्डर दे सकता है।

सिलाई और कढ़ाई का काम

कम या बिना शिक्षा प्राप्त करने वाली महिलाएं सिलाई और कढ़ाई का व्यवसाय कर सकती हैं। यह एक ऐसा कौशल है जो ग्रामीण क्षेत्र की अधिकांश महिलाओं के पास है और इससे वे अच्छा पैसा कमा सकती हैं। एंब्रायडरी हैंडवर्क बाजार में मूल्यवान है और कोई भी इसे ऑनलाइन बेचकर अच्छा पैसा कमा सकता है।

जूट बैग बनाना

जूट एक बायो डिग्रेडेबल इको-फ्रेंडली बैग है। डिजाइनर जूट बैग की बाजार में बहुत अच्छी मांग होती है और निर्यात क्षमता भी। साधारण मशीनरी होने से आप अपने घर के स्थान पर भी जूट बैग बनाने की इकाई को शुरू कर सकते हैं। पर्यावरण के अनुकूल जूट के धागे, जूट के कपड़े और अन्य जूट की वस्तुओं की मांग बहुत तेजी से बढ़ रही है। आज कल प्लास्टिक के स्थान पर जूट बैग को ही प्रयोग किया जाता है।

जैविक फार्म ग्रीन हाउस

एक जैविक कृषि ग्रीनहाउस परियोजना व्यवसाय में बढ़ने और सफल होने की उच्च क्षमता है क्योंकि लगातार जैविक रूप से उगाए गए कृषि उत्पादों की मांग बढ़ी है।

रसायनों के साथ उगाए गए खाद्य पदार्थों के कई स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में जागरूकता में वृद्धि के साथ, अधिक से अधिक लोग खाद्य उत्पादों से दूर हो रहे हैं। जो कि जैविक रूप से उगाए गए भोजन की ओर उर्वरकों और अन्य रसायनों के साथ उगाए जाते हैं। यह महिला उद्यमियों के लिए सबसे लाभदायक लघु स्तर के व्यावसायिक विचारों में से एक है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.