तनावशादी विवाहसंबंधसलाह / मार्गदर्शन

पति कोरोना से गुजर गया। पति को भूल नहीं सकती। पुनर्विवाह करू या नहीं ?

पुनर्विवाह करू या नहीं ? मैंने लव मैरिज किया था। हमारी शादी को घरवालों का विरोध था।

मेरी मर्जी के खिलाफ मेरी शादी उन्होंने तय की थी। इसलिए शादी से एक दिन पहले मैंने घर छोड़ा।

हमने बाहर की दुनिया कभी देखि ही नहीं थी। जबतक पैसे थे, सबकुछ अच्छा चल रहा था। धीरे धीरे

प्यार का नशा उतर गया। और हम वास्तविक दुनिया में या गये। हम दोनों BSC करते करते भाग आये।

दोनों को नौकरी नहीं थी। मै कपड़े के शॉप में नौकरी करती थी। पति होटल में नौकरी करने लगा।

हम दोनों में फिर भी बहुत प्यार था। मगर मेरे पापा मेरी हरकत को सहन नहीं कर पाये। और उन्होंने

आत्महत्या की। इस बात से मै बहुत दुखी हो गई। मगर घर वापस कीस मुह से जाती? लोग मुझे क्या माफ

कर पाते? ये ऐसा वक्त था, जो मेरे जीवन में मै कभी भूल नहीं सकती। ऐसे में मेरा पति भी अचानक बीमार

पड़ा और अस्पताल में मृत्यु हो गई। मै बुरी तरह से हार गई हु। मुझसे बहुत ज्यादा प्यार करने वाले

सिर्फ 2 इंसान थे दुनिया में । दोनों चल बसे। मै अब बहुत पछता रही हु।घर वापस नहीं जा सकती।

किराये के मकान में रहकर अपना पेट पाल रही हु। क्या मुझे दूसरी शादी करनी चाहिये ? या एक

विधवा के तौर पर जीवन बिताना चाहिये ?

हमारी सलाह : पुनर्विवाह करू या नहीं ?

अगर आपका का पति कोरोना से गुजर गया है और आप अपने जिंदगी के अकेलेपन को दूर करने के लिए

शादी करना चाहती है। तो बेशक आप शादी कर सकती है। हर व्यक्ति को अपना जीवन अपनी इच्छा से

जीने का अधिकार है। तो फिर आपको आपके हक की खुशी भला क्यों ना मिले? आपको पूरा अधिकार है

फिर से अपना घर बसाने का। आपने कोरोना परस्थिति के कारण अपने पति को खोया है। आपका कोई

कसूर नहीं है। ऐसा देखा भी गया है, एक पुरुष ताउम्र अपने पत्नी के बगैर जी सकता है

खुद को हर परिस्थिति के अनुसार मना सकता है।लेकिन एक औरत अपने पति के बगैर ताउम्र नहीं रह पाती है।

रहना मुश्किल इसलिए भी होता है जब विधवा औरत के पास उसका अपना कोई नहीं होता है, यहां तक

कि संतान भी नहीं।

अकेली से ज्यादा परिवार में खुश और सुरक्षित रहोगी

शादी के बाद,औरत अपने पति के साथ खुश रहती है। जब वह मां बनती है, तो उसके चेहरे में

अलग ही खुशी आ जाती हैं, और मां बनने के बाद वह अपनी सभी खुशी अपने बच्चे में देखती है।

हाल ही में आपने अपने पति को खोया है। आपको कोई संतान भी नहीं है।ऐसे मैं आपका फिर से घर

बसाने के बारे में सोचना सही है।आपके पास ना ही परिवार का सहारा है ,ना ही आपका कोई संतान है।

तो ऐसी परिस्थिति में आपको शादी कर ही लेनी चाहिए।

बात अगर सालों पुरानी होती, तो सोचने वाला विषय था। एक विधवा की शादी सालों पहले नहीं होता था।

लेकिन आज वक्त बदला है और वक्त के साथ हमारा समाज भी बदल चुका है। हमारे समाज में विधवा को

भी फिर से शादी करने का पूरा अधिकार है। हाल ही में अमेरिका में एक रिसर्च से,यह मालूम हुआ है

की विधवा जो दुबारा शादी करती हैं उनमें से 60% महिलाएं ही मन की बहुत साफ होती हैं। वह

अपनी दूसरी शादी को भी बखूबी निभाती है। उनके मन में किसी भी प्रकार का कोई लोभ, लालच नहीं रहता।

ये भी पढे गरीब विधवा हु। त्वचा में बहुत खुजली होती है। क्या करू ? – Gharelu Nuske घरेलू इलाज

पुनर्विवाह करू या नहीं ? किससे करें। किससे ना करें।

यदि आप फिर से शादी करना चाहती हैं तो किसी ऐसे व्यक्ति से शादी कीजिए जिसकी सोच आपसे मिलती हैं

एवं जो आपको मन से अपनाने की क्षमता रखता है। ऐसे इंसान से ही आप शादी कीजिए। यदि आपको फिर

भी अपने मनपसंद का कोई व्यक्ति नहीं मिलता है तो आप किसी एनजीओ के समक्ष चले जाइए और

वहां काम कीजिए।सिलाई, कढ़ाई, सीखिए पैसे कमाइए और अपने जीवन को खुशी से आनंद से बिताइए।

भविष्य में यदि,आप बच्चे की चाह रखती हैं तो, किसी बच्चे को गोद ले लीजिए।आप की वह चाह भी

पूरी हो जाएगी। अनाथ बच्चे को मां का प्यार भी मिल जाएगा और आप दोनों का अकेलापन भी

दूर हो जाएगा। बेहतर जीवन साथी की तलाश करने के लिए आप समाचार पत्र का व्यवहार कर सकती हैं

क्योंकि उसमें एक भाग विवाह का रहता है। जहां पर आपको अपने पसंद का कोई जीवन साथी मिल

ही जाएगा। बस पेपर खरीद लिजिए है या किसी से मांग लीजिए और जीवन साथी की तलाश करने

के कार्य में जुट जाइए।

कुछ वेबसाईट भी बिल्कुल मुफ़्त शादी के लिये रिश्ते दिखाती है। मुफ़्त में चैटिंग की सुविधा देती है।

आपकी प्राइवसी का खयाल रखती है। ऐसी वेबसाईट पर भी मुफ़्त में अपना जोड़ीदार ढूंढ सकती हो।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.