निजी सीक्रेटरिलेशनशीपशादी विवाहसंबंध

तलाकशुदा महिला से शादी? पहले ये पढे

तलाकशुदा महिला से शादी करनी चाहिए या नहीं?

यदि आप किसी तलाकशुदा महिला से शादी करना चाहते हैं। तो आप बिल्कुल शादी कर सकते हैं। अपनी जिंदगी को फिर से नए सिरे से शुरू करना ही समझदारी भरा निर्णय होगा। ऐसे में दूसरी शादी करना ही एक महिला के लिए बेहतर होगा। जिससे उसे भावनात्मक और आर्थिक सपोर्ट मिलेगा। इसके अलावा ऐसे बहुत से कारण हैं। जिनके आधार पर एक महिला को तलाक के बाद दूसरी शादी करनी चाहिए। आइए जानते हैं कौन से हैं यह प्रमुख कारण है जिनके आधार पर शादी का फैसला लिया जा सकता है।

शादी करने से पहले लड़की से तलाक होने का कारण अवश्य पूछें 

लेकिन शादी करने से पहले एक बार उस महिला से उनके तलाक होने का कारण भी पता कर लें। ताकि आपको उनके तलाक होने के कारण का पता चल सकें और आप एक अंदाजा भी लगा सकते हैं कि लड़की कैसी होगी। कहीं लड़की के स्वभाव या चरित्र में खराबी तो नहीं है या उसके माँ बाप उसके घर में ज़्यादा दखलंदाज तो नहीं कर रहे हैं ना। 

लड़की की गलती अगर नहीं है तो आप शादी कर सकते हैं

यदि तलाक होने का कारण वह नहीं बल्कि उसके पति के घरवाले है। जो आए दिन उसके साथ खराब व्यवहार किया करते थे। या फिर उसका पहला पति ही खराब था। जो कोई काम नहीं करता था एवं अपनी पत्नी को दहेज के लिए प्रताड़ित करता था। उसके साथ दुर्व्यवहार करता था। तो इन सभी चीजों के लिए लड़की तो जिम्मेदार नहीं हो सकती है ना। इसलिए आप ऐसी तलाकशुदा लड़कियों से शादी कर सकते हैं।

प्यार से पली-बड़ी लड़कियां कभी भी बंदिश वाली ससुराल में घर नहीं कर पाती हैं

कई बार लड़कियां अपने ससुराल में शारीरिक रूप से नहीं बल्कि मानसिक रूप से अपने ससुराल वालों द्वारा प्रताड़ित की जाती है। शादी से पहले जो लड़कियां घर का कामकाज नहीं जानती है। अगर ऐसी लड़कियां किसी ऐसे परिवार में जाती हैं। जहां पर सांस खुद अपनी बहू से काम करवाती है और काम ना आने पर उनको 10 बात सुनाती हो। 

तो ऐसे घर में कोई भी लड़की अपनी पूरी जिंदगी कभी भी नहीं बिता पाएंगी। कारण उसे हर कदम पर ससुराल वालों की तानों को सुनना पड़ेगा और काम करना पड़ेगा। जिस घर में सांस का हुकुम चलता है, लड़का पत्नी से ज्यादा माँ बाप को  अहमियत देता है, लड़का कम कमाता है, खर्च पत्नी पर कम और अपने घरवालों पर ज्यादा करता है। ऊपर से पत्नी को आज़ादी नहीं है। ऐसे घर में लड़कियां नहीं रह पाती हैं और वह तलाक लेकर अलग हो जाती हैं।

क्या आप तलाकशुदा औरत को उसके बच्चे के साथ अपना सकते हैं

अगर तलाकशुदा औरत के साथ में बच्चे हैं। तो आप गंभीर रूप से इस पर विचार कीजिए क्योंकि आप अगर उससे जुड़े तो आपको उन बच्चों का भी पिता बनना पड़ेगा। जो कि आपके नहीं हैं। यह आपके लिए बहुत ही कठिन समय होगा। दुनिया में बहुत ही कम लोग ऐसे होते हैं। जो किसी तलाकशुदा औरत को उसके बच्चे के साथ स्वीकार कर शादी करते हैं। यदि आप में दोनों को स्वीकार करने की क्षमता है और चाहत है। तो आप अवश्य तलाकशुदा औरत से शादी कीजिए उन को खुश रखें एवं उनके बच्चे को अपना नाम देकर खुद भी खुश रहिए।

यदि आप जिम्मेदारी ले सकते हैं तो ही शादी कीजिए

किसी ऐसे तलाकशुदा महिला से शादी करें जो आपकी जिम्मेदारियों को लेने के लिए तैयार हो और इसके विपरीत अपनी सभी जरूरतों के लिए सिर्फ दूसरे व्यक्ति पर निर्भर ना रहें। शादी से पहले सुनिश्चित करें कि आप उनकी भी पूर्ति कर रहे हैं। आप एक दूसरे के लिए जिम्मेदारी लें। आगे बढ़ने से पहले आप अपने पार्टनर से हर चीज पर बातचीत करें। बहुत ही कम लोग ऐसे होते हैं, जिन्हें तलाक के बाद दोबारा प्यार और फिर शादी करने का मौका मिलता है।

हमेशा अच्छे परिवार में ही शादी करनी चाहिए। ऐसे परिवार में नहीं जहां के लोग हमेशा कोर्ट आदि के चक्कर बात-बात पर लगाते हैं।

जब भी एक लड़का और लड़की शादी के बंधन में बांधे जाते हैं। तो वह ज़रूर अपने भविष्य के बहुत से सपने देखे होते हैं। इस पड़ाव पर तलाक के विषय में किसी ने भी नहीं सोचा होगा। परंतु कई बार बहुत सी दर्दनाक परिस्थितियां उत्पन्न हो जाती हैं। जो ना चाहते हुए भी शादी को तलाक की तरफ ले जाती हैं। किसी भी पुरुष या औरत की तलाक के बाद जिंदगी खत्म नहीं हो जाती हैं। 

इसलिए तलाकशुदा महिला से शादी करना चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.