आधुनिकआरोग्यइतिहासटेक्नोलॉजीट्रेंडिंगस्पेशल

जिगोलो मार्केट में गरीब महिलाएं क्यों नहीं जाती?

जिगोलो मार्केट कोई आम मार्केट नहीं है। जहां पर कोई साधारण घर की महिला जा पाएं। यह एक बहुत बड़ा मार्केट है। जो बड़ा, बड़े घर की महिलाओं के कारण बनता है। गरीब घर की महिलाओं के पास अपना घर परिवार चलाने के लिए पैसा नहीं होता। वह भला जिगोलो मार्केट में कैसे इन्वेस्ट कर पाएंगी। इसके अतिरिक्त और भी कई सारे कारण है। जिसके वजह से जिगोलो मार्केट में गरीब महिलाओं की एंट्री नहीं हो सकती।

जिगोलो मार्केट में गरीब महिलाएं क्यों नहीं जाती?

गरीब महिलाएं स्वाभिमानी होती हैं

गरीब महिलाओं के पास भले ही पैसा ना हो। लेकिन वह कभी भी कोई ऐसा काम नहीं करती हैं। जिससे उनके स्वाभिमान को चोट पहुंचे। उन्हें भले ही अपने सांसारिक जीवन में पति का प्यार मिल रहा हो या ना मिल रहा हो। इस बात से उनको कोई फर्क नहीं पड़ता। लेकिन वह अपने जीवन में मरते दम तक कभी भी कोई गलत काम नहीं करती हैं। जिससे उन्हें सोच में पड़ना पड़े।

वह अपने चरित्र पर दाग नहीं लगाती

गरीब घर की महिलाएं, ऐसी होती हैं जैसे कोरा कागज। कोरे कागज पर यदि आप स्याही उड़ेलेंगे। तो ही कोरा कागज गंदा होगा अन्यथा नहीं। ठीक वैसे ही गरीब घर की महिलाओं का चरित्र होता है। जिस पर वह कभी भी दाग नहीं लगाती है। अपने पति के अतिरिक्त अन्य किसी पुरुष के ऊपर भी वह आंख उठाकर नहीं देखती है। कारण ऐसा करना उन्हें शोभा नहीं देता। कुछ ऐसी बातें ही उन्हें बचपन से सिखाई जाती है।

वह चाह कर भी जिगोलो जाने का सपना नहीं है देखती है

जिगोलो जाने का सपना वह औरतें बिल्कुल भी नहीं देखती। जो गरीब होती हैं। उनको पता है कि उनके पास पैसे नहीं है। बिना पैसों के जिगोलो में औरत तो जा ही नहीं सकती है। कारण औरतों के कारण ही जिगोलो का मार्केट आज बन पाया है। जिगोलो मार्केट में जो लड़के होते हैं। उन्हें ही जिगोलो कहा जाता है और औरतें पैसे देकर उन्हें एक रात के लिए खरीदती हैं। गरीब घर की औरतों के पास इतना पैसा नहीं होता कि वह जिगोलो मार्केट जाकर लड़कों की बोली लगाएं। इसलिए वह अपनी इच्छाओं को अपने अंदर ही दमन कर देती हैं।

अपने पति से बहुत प्यार करती हैं

बड़े घर की महिलाएं भी अपने पति से प्यार करती है और गरीब घर की महिलाएं भी। लेकिन इन दोनों घर के महिलाओं में जमीन आसमान का फर्क होता है। जब बड़े घर के महिलाओं को पति जैसा सुख अपने पति से नहीं मिलता। तब उनका ध्यान इधर-उधर भटक जाता है और वह पति सुख पाने के लिए जिगोलो जैसे मार्केट का सहारा लेती है। लेकिन वहीं अगर गरीब घर की महिलाओं की बात की जाएं। तो वह मरते दम तक अपने जीवन में केवल एक ही व्यक्ति से प्यार करती हैं वह है उनके पति। यहां तक की वह अपने पति के खिलाफ कोई शब्द भी नहीं सुन सकती है।

जिगोलो मार्केट में जाना किसी गरीब घर की महिला द्वारा तो संभव ही नहीं है। कारण वहां पर पैसों का एक बड़ा खेल चलता है। जो केवल बड़े घर की औरतों द्वारा ही संभव है। पैसा देकर लड़कों को खरीदना। इसके अतिरिक्त जो काम बड़े घर की औरत अपने पैसे एवं पावर के साथ कर पाएंगी। वह गरीब घर की औरत कभी भी नहीं कर पाएंगी। इसलिए गरीब घर की महिलाएं जिगोलो मार्केट में नहीं जा पाती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *