लाईफ स्टाइलशादी विवाहसंबंध

जिगोलो मार्केट जानेवाली महिलाएं हो जाए सावधान ! वरना हो जाओगी बरबाद

जिगोलो मार्केट एक ऐसा मार्केट है। जहां पर खुलेआम देह व्यापार होता है। लेकिन यहां देह व्यापार औरतों का नहीं। बल्कि पुरुषों का होता है। जी हां जिगोलो मार्केट में महिलाएं पुरुषों की बोली लगाने जाती है और अपने मनपसंद लड़के को चुनकर उनके साथ वह सभी संबंध बनाती है। जो संबंध शादी के बाद एक पुरुष एवं स्त्री के मध्य होता है।

इस मार्केट में जाने वाली महिलाओं को बहुत सावधानी बरतनी चाहिए। वरना उनको बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है। आज हम इस विषय आप से चर्चा करेंगे कि रोज-रोज जिगोलो जाने वाले महिलाओं को किस तरीके की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

महामारी की बीमारी हो सकती है

जैसा कि हमने पहले बता दिया है कि जिगोले के बाजार में देह का व्यवसाय होता है। यहां आने वाली महिला पुरूषों के साथ शारीरिक संबंध मनाती हैं। जिस वजह से उन्हें स्वयं खुद आगे चलकर बहुत सारे शारीरिक समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है।

महिलाओं को एचआईवी की बीमारी हो सकती हैं। एड्स हो सकता है। यहां तक कि यदि इन बीमारियों का  इलाज नहीं हुआ। तो महिलाओं की जान भी जा सकती है।

भविष्य में आपकी शादी नहीं भी हो सकती हैं

जिगोलो मार्केट में आने वाली कुछ लड़कियां कुंवारी होती है। ऐसी लड़कियां भी जिगोलो में बोली लगाने के लिए आती हैं। ऐसी लड़कियों से शायद ही कोई अच्छे घर का पुरूष शादी करने के लिए राजी होता है। कभी-कभी तो ऐसी महिलाएं बिना शादी की ही अपने घर में रह जाती है।

विशेष स्वास्थ्य स्थितियां

कई स्वास्थ्य स्थितियां शारीरिक संबंध का आनंद लेने की आपकी क्षमता को प्रभावित कर सकती हैं। इनमें मधुमेह, गठिया, मल्टीपल स्केलेरोसिस और हृदय रोग शामिल होता हैं। यहां तक की जिगोलो में महिलाएं नशीली दवाओं की लत या शराब ज्यादा पीने लगती है। जिसके वजह से भी महिला को यौन रोग हो सकता है।

परामर्श

अगर आपकों मनोवैज्ञानिक कारणों के चलते सेक्स संबंधित समस्या हो रही है। तो आप इस बारे में किसी विशेषज्ञ से बात कर सकती है या अपने साथी को इस बारे में बताएं। 

बीमारी होने का खतरा

आपको जिगोलो के कारण एचआईवी या अन्य एसटीडी होने की संभावना तब अधिक होती है। जब आपके जीवनकाल में एक से अधिक यौन साथी या कई यौन साथी होते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि अधिक लोगों का मतलब अधिक संभावना है कि उनमें से एक या अधिक को एचआईवी या संक्रमण होगा।

बीएमजे सेक्सुअल एंड रिप्रोडक्टिव हेल्थ द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अधिक यौन साथी होने से कैंसर और जीवन-सीमित पुरानी स्थितियों की संभावना अधिक होती है।

एचपीवी जैसे एसटीडी संक्रामक एजेंटों के कारण होने वाले सभी कैंसर के लगभग 30% से जुड़े हुए हैं और गर्भाशय, लिंग, मुंह, गुदा कैंसर पहले से ही इस प्रकार के एसटीडी से जुड़े हुए हैं। हालांकि, एचपीवी और सर्वाइकल कैंसर के बीच की कड़ी एचपीवी के पेनाइल कैंसर के लिंक से अधिक मजबूत है। इस तरह के अंतर जेंडर परिणाम की व्याख्या कर सकते हैं।

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker