तनावदुनियानिजी सीक्रेटपुरुष स्वास्थफॅशनलाईफ स्टाइलशादी विवाहस्टार्टअप

अविश्वास के कारण टूटने वाले रिश्ते को कैसे बचाएं?

मेरा नाम रोहिणी जयसवाल है। मैं एक 55 साल की महिला हूं। मेरा एक ही बेटा है। जिसकी शादी को 1 साल हो चुके हैं। लेकिन इन दिनों मेरे बेटे की शादी शुदा रिश्ते में बहुत बड़ी समस्या चल रही है। मेरी बहू और मेरे बेटे के बीच में अविश्वास उत्पन्न हो रहा है। जिस कारण से उन दोनों के रिश्ते में बाधा है आ रही हैं। मैं एक्सपर्ट से सलाह चाहती हूं कि कैसे अपने बेटे एवं बहू के रिश्ते को बचाऊं? कृपया मदद कीजिए।

हमारी सलाह : अविश्वास के कारण टूटने वाले रिश्ते को कैसे बचाएं?

आज के समय में बहुत कम ही ऐसी सांस होती हैं। जो अपने बेटे और बहू के रिश्ते को बचाने की कोशिश करती हैं। आपके बेटे और बहू में यदि विश्वास उत्पन्न हुआ है। तो आप एक छोटी सी कोशिश कर उन दोनों के अविश्वास को खत्म कर दोनों को एक दूसरे के प्रति विश्वास करवाना सीखा सकती हैं। कैसे आइए जानते हैं-

अविश्वास के कारण को जानिए

आपके बेटे एवं बहू दोनों एक दूसरे पर विश्वास क्यों नहीं कर रहे हैं। उस कारण को जानिए। तब आपको उन दोनों को मिलाने में सुविधा होगी। कोई ना कोई कारण तो होगा जिस कारण से दोनों एक दूसरे को गलत समझ रहे हैं। जब तक उस मुख्य वजह का पता नहीं चलेगा। तब तक आप उन दोनों में पहले जैसा संबंध स्थापित नहीं कर पाएंगी।

क्या दोनों एक दूसरे पर आरोप ज्यादा लगाते हैं?

अविश्वास की स्थिति तभी उत्पन्न होती है। जब कोई ऐसी बातें होती हैं। जिसमें एक व्यक्ति बार-बार झूठ बोल रहा होता है और दूसरा उसे सच स्वीकारने के लिए कहता है। आपके बेटे और बहू में से कौन यह काम कर रहा है। यह जानना आपके लिए जरूरी है। ताकि आप दोनों को अच्छे से समझा सकें।

प्यार से समझाने की कोशिश कीजिए

चाहे किसी की भी गलती हो आपको डांटना नहीं है। बल्कि एक मां की तरह अच्छे से समझाना है कि जिंदगी में एक झूठ हमें कहां से कहां लाकर खड़ा कर देता है। आपको इस तरीके से समझाना है ताकि आपके बातों का असर उन पर हो और वह अपनी गलती को समझ सकें।

कहीं तीसरे व्यक्ति का तो हस्तक्षेप नहीं है

कई बार अच्छे रिश्ते में दरार तीसरे व्यक्ति के वजह से हो जाती है। आपको यह भी जाने की जरूरत है कि कहीं आपके बेटे और बहू के जिंदगी में कोई तीसरा व्यक्ति तो नहीं आ गया है। जो उन दोनों के बीच की दरार को और गहरा करता जा रहा है। जिसके बारे में वह भी अनजान हैं। क्या पता उस तीसरे व्यक्ति पर ही भरोसा कर ही आपके बहु बेटे एक दूसरे के साथ लड़ रहे हैं। यदि ऐसा है तो उस तीसरे व्यक्ति को आपको उन दोनों के बीच में से हटाना होगा।

दोनों को कुछ दिनों के लिए बाहर भेजें

जब आप की कोशिशें रंग लाएगी। उसके बाद उन दोनों को कुछ दिन के लिए बाहर भेज दीजिए। ताकि उन दोनों का मनमुटाव खत्म होने के बाद। वह दोनों एक दूसरे के साथ थोड़ा समय बिता सकें और जब वह वापस आए तो वह पहले जैसा ही बन कर आए। जैसा कि वह शादी के बाद रहते थे। इस तरह से आप अपने बेटे और बहू के संबंध को ठीक कर पाएंगी। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.