निजी सीक्रेटमनोरंजनरिलेशनशीपशादी विवाह

तलाकशुदा ननंद के अनैतिक आचरण से परेशान हु। क्या करू?

प्र- मेरी शादी को 6 महिने हो गए है। घर में हम पति पत्नी के अलावा पति की तलाक़शुदा बहन रहती है। उसके उच्छृंखल आचरण से मुझे उससे नफरत होने लगी है। मेरे पति का दोस्त उसकी गैरमौजूदगी में घर आता है। घंटो दोनों में गपशप चलती हैं। कई बार ऐसे चिपक कर बैठते है, जैसे पति पत्नि हो। उन्हें लगता हैं, की मैं उनकी हरकतों से अनजान हूं।ऐसी स्थिति में मुझे क्या करना चाहिए?

हमारी सलाह : तलाकशुदा ननंद के गलत आचरण पर क्या करें?

आप की शादी अभी नहीं नई हुई है और आप की ननंद तलाकशुदा है। ऊपर से आपको उनकी आचरण परेशान कर रही हैं। ऐसी परिस्थिति में आपको उनके हर एक परिस्थिति की जानकारी अपने पति को देनी चाहिए क्योंकि आपके पति के गैर मौजूदगी में आप ही घर पर होती है। ऐसे में यदि आपके ननंद को अपने ही हरकतों की वजह से कोई मुश्किल हुई तो। इसका पूरा आरोप आप पर भी आ सकता है कि आप ही तो घर पर रहती थी और आप ही के सामने इतना सब कुछ होता रहा तो आपने मुझे क्यों नहीं बताया। यह सभी बातें आपके पति आपसे पूछ सकते हैं। इसलिए कुछ गलत होने से पहले ही अपने पति को सारी जानकारियां दें। साथ ही आप दोनों मिलकर अपनी ननद को सुधारने की कोशिश कीजिए।

अपनी ननद को वार्निंग दीजिए 

किसी भी इंसान को सुधारने के लिए पहले उसे चेतावनी देनी चाहिए। चेतावनी देने के बाद भी यदि व्यक्ति ना सुधरे। तब उन्हें धमकी देनी चाहिए और यदि धमकी देने के बाद भी कोई ना सुधरे। तो उसे अपना स्वयं का रास्ता चुनने की बात कह देनी चाहिए।

आप की ननंद के बारे में आपने जो भी बताया है। इससे यही ही पता चलता है कि आप की ननंद अच्छे चरित्र वाली महिला नहीं है और हो सकता है कि उनकी इसी चरित्र के कारण ही उनका अपने पहले पति से उनका तलाक हो चुका है। ऐसे में यदि वह आपके पति की गैरमौजूदगी में तरह-तरह के लोगों को घर पर बुलाकर उनसे गपशप करती है।

उनसे चिपकती है। तो इसका अर्थ यही है कि उनका उद्देश्य कुछ अच्छा नहीं है। इसलिए खुद को इस मुश्किल परिस्थिति में फंसने से रोकने के लिए आपको हर बात अपने पति को बतानी होगी और आप दोनों को मिलकर ही नन्द को सुधारना होगा।

यदि वह आपके द्वारा दिए गए चेतावनी को हल्के में लेती हैं। तो उन्हें धमकी दिजिए कि आप अपने घर से उनको बाहर निकाल देंगे। यदि उस धमकी को भी वह हल्के में लेती है। तब आप उनसे कह दीजिए कि वह आपके भैया का घर छोड़कर चली जाए क्योंकि आप किसी की बातें नहीं सुन रही हैं।

बदतमीजी करने पर भी उन्हें निकालिए

बदतमीजी करने वाले लोग कभी भी अपनी जिंदगी में सुधरते नहीं है। जब तक कि उन्हें अपनी जिंदगी में ठोकरे नहीं मिलती है। आप की ननंद को सबक सिखाना बहुत जरूरी है। इसलिए उनको घर से बाहर निकालिए। ताकि वह सबक सिख सकें। उनको पता चल सके कि वह जो कार्य करती है। वह कार्य हमारे दुनिया में फिट नहीं बैठती है और जब उन्हें अपनी गलती का एहसास होगा। तब जाकर उन्हें एहसास होगा कि उनके भाई और भाभी ने उनके साथ जो भी किया है। अच्छा किया है। एक बार वह जब सुंदर जाएं तो उनको वापस बुला लिजिए।

गलती से भी अपनी ननद का साथ मत दीजिए

आपकी नन्द आपको सच कहने से रोक सकती है। आपको धमका सकती है। कारण आपकी शादी नई हुई है। वह आपको नए-नए पैंतरों से रोक सकती है। यहां तक की आपको परेशान भी कर सकती है। लेकिन यदि आप सच में चाहती हैं कि आप की ननंद सुधरे तो अपने पति को सच कहने से बिल्कुल भी ना डरें क्योंकि अगर आज आप सच छुपा लेंगी। तो कल आप की ननंद कुछ ऐसा कर जाएंगी। जिसका पछतावा आपको व आपके परिवार को आजीवन होगा। ताकि आप अपने पति से सच ना कहें। लेकिन आपको डरने की जरूरत नहीं है। आप अगर डरेंगी तो आपकी नन्द का साहस बढ़ जाएगा। इसलिए सच का साथ दिजिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.