तनावनिजी सीक्रेटमनोरंजनमहिला स्वास्थलाईफ स्टाइलसंबंध

1 साल से मायके में हूँ | मुझे दूसरी शादी के प्रस्ताव आ रहे हैं | क्या करूं?

मै शादीशुदा पतिव्रता महिला हु। 1 साल से मायके में हूँ | मुझे दूसरी शादी के प्रस्ताव आ रहे हैं | क्या करूं?

मै पति से बहुत प्यार करती हु। मगर उनको मेरी परवाह नहीं है। अपनी माँ उनको झुट बोलकर मेरे खिलाफ

भड़काती रहती है। और मेरे साथ झगड़ा करती रहती है। इस बात से परेशान होकर मैंने एक दिन सांस को

उल्टी बातें की। गुस्से में मै अपना आपा खो बैठी और उसके ही डंडे से मैंने उसको पीट दिया। और मायके

आ गई। मुझे लगा की गुस्सा ठंडा होते ही, पति मुझे ले जाएंगे। मगर अब तो वो मेरा फोन भी नहीं उठा रहे है।

न मुझसे बात करते है। मेरे घरवालों ने उनको समझाने की कोशिश की मगर उनको अपमानित करके वापस

भेज दिया। मेरे पापा मेरी शादी दूसरे किसी से कराना चाहते है। कुछ रिश्ते भी आ रहे है। ऐसी हालत में मुझे

क्या करना चाहिए? अब मै क्या करूं?

हमारी सलाह : 1 साल से मायके में हूँ | मुझे दूसरी शादी के प्रस्ताव आ रहे हैं | क्या करूं?

पति पत्नी के पवित्र बंधन के बीच कई वजह से दूरियां पैदा हो जाती है। इन दूरियों की वजह आपसी

लड़ाई झगड़ा या गलत फहमी भी हो सकती हैं। कई बार पति का अहंकार भी अलगाव का कारण

होता है। रिश्तों में आने वाली खटास के कारण कई बार पत्नी अपने मायके का रुख कर लेती है।

पति से पूरा मान सम्मान न मिलना भी इसकी वजह हो सकती है। वैसे तो इस रिश्ते को बनाए

रखने के लिए पति और पत्नी दोनों को ही प्रयास करना चाहिए।

 पति और पत्नी एक ही गाड़ी के दो पहिए होते हैं। अगर उन दोनों में से एक भी अपनी जिम्मेवारी से

पीछे हट जाता है। तो कई बार रिश्ता टूटने की कगार पर आ जाता है। अगर आपके पति भी आपके

मायके रहने के बावजूद आप से बात नहीं करते। और आप पर लगातार दूसरी शादी का दबाव भी

बनाया जा रहा है। तो इस असमंजस की स्थिति से निकालने के लिए हम आपकी मदद करेंगे।

आइए जानते हैं कि ऐसी स्थिति में आपको क्या करना चाहिए।

खुद बात करने की पहल करें


अगर आपके पति अहंकार वश आपसे बात नहीं करना चाहते। लेकिन आप चाहती हैं कि यह

रिश्ता बना रहे। तो बिना देर किए आपको खुद इस रिश्ते को बचाने की पहल करनी चाहिए।

उनसे बात करते समय खुद को शांत रखें। और बिना किसी विरोध के आराम से बात करने की

कोशिश करें। उन्हें यह समझाएं कि आप अपने रिश्ते में आने वाली खटास को लेकर चिंतित हैं।

और फिर से अपनी जिंदगी खुशहाल बनाना चाहती हैं।

पर गलती से भी उन पर आरोप प्रत्यारोप की शब्दावली का प्रयोग ना करें। क्योंकि अगर वह

अहंकारी है। तो वह इन शब्दों का सामना करने की बजाय रिश्ते को तोड़ना पसंद करेंगे।

छोटी मोटी गलतियों को नजरअंदाज करें


कई पुरुषों की आदत होती है कि वह हर छोटी बात को बहुत बड़ा बना देते हैं। उनकी इस

हरकत से बात खत्म होने की बजाय राई का पहाड़ बन जाती है। यदि आप इस रिश्ते में आगे

बढ़ना चाहती है। तो उस बात को खत्म करने की कोशिश जरूर करें। ऐसे में आपकी समझदारी

तो दिखेगी ही, बल्कि आपका रिश्ता भी बना रहेगा।

गुस्से को बिल्कुल त्याग दें


 जरूरी नहीं कि पति ही आपके मायके जाने की वजह हो। यह भी हो सकता है, कि आप

द्वारा गुस्से में प्रयोग किए गए शब्दों ने उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाई हो। क्योंकि क्रोध किसी

भी रिश्ते में विनाश का कारण बन जाता है। यदि आप अपने रिश्ते में लड़ाई झगड़े कोई जगह

नहीं देना चाहते। तो सबसे पहले अपने गुस्से पर काबू करना सीखें। अपने रिश्तों में प्यार को

जगह दे न की गुस्सा और नफरत को।

बड़ों का सहयोग   


वैसे तो पति पत्नी के रिश्ते में अगर कोई तीसरा आ जाता है। तो कई बार समस्या सुलझने की

बजाय बढ़ जाती है। लेकिन जब आप सब कुछ ट्राई कर चुके हैं। तो अब आपको अपने परिवार

के बड़े लोगों से बात करनी चाहिए। हो सकता है आपके पति किसी के समझाने पर इस

रिश्ते को बनाने की कोशिश करें। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.