स्पेशल

एक लड़की को शादी के बाद क्या दिक्कतें आती है

शादी के बाद एक लड़की के जीवन में सब कुछ बदल जाता है। रिश्ते बदल जाते हैं। घर बदल जाता है। एक तरफ से यदि कहा जाए तो उनके लिए पूरा वातावरण बदल जाता है। जब जिंदगी में एकाएक परिवर्तन आता है। तो बहुत समय लगता है। उस जिंदगी में खुद को एडजस्ट करने में।

लड़की को शादी के बाद क्या दिक्कतें आती है

कुछ ऐसा ही होता है। जब एक लड़की शादी कर अपने ससुराल जाती है। मानो वह तैरते-तैरते समुंदर के गहरे पानी में जा पहुंची हो।

शादी के बाद नए लोगों से मिलती हैं

शादी के बाद एक लड़का जितना खुश रहता है। एक लड़की उतनी ही ज्यादा परेशान रहती है। कारण उसके लिए तो सब कुछ नया रहता है। नए लोगों के बीच वह कैसे सब कुछ मैनेज करेगी। यह चिंता उसे सबसे ज्यादा रहती है।

चुप रहती हैं

वह सोचती हैं कि हर एक व्यक्ति से वह बात कैसे करेंगी। यदि उसके बातों में कुछ गड़बड़ी हो गई। तो लोग उसे क्या समझेंगे। इसलिए शुरू-शुरू में वह काफी शांत रहती है। कारण मायके से उनकी मां भी उन्हें यही सिखाती है कि बेटा हर परिस्थिति में शांति से काम लेना। ताकि कोई गड़बड़ी तुमसे ना हो। अपनी मां की बातों को ध्यान में रखकर ही लड़कियां काफी एडजस्ट करती हैं।

जहां नहीं बोलना होता है। वहां चुप रहती हैं। जहां बोलना होता है। वहां भी वह कभी-कभी वह चुप हो जाती है। ताकि किसी भी प्रकार का कोई गलत माहौल उत्पन्न ना हो।

जीवनशैली पर काफी प्रभाव पड़ता है

शादी के बाद एक लड़की के जीवन शैली पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ता है।कारण वह अपनी मर्जी से अपने ससुराल या पति के घर में कुछ भी नहीं कर सकती हैं। जो वह अपने पिता के घर में कर पाती थी। वह पति के घर में कभी भी संभव नहीं हो पाता है।यहां तक कि शुरूआती समय में वह कोई फैसला भी बिना किसी की राय लिए नहीं ले पाती हैं।

काम का प्रेशर बढ़ जाता है

यदि लड़की कामकाजी हो, जो रोजाना ऑफिस जाती है। तो उसके ऊपर काम का पहाड़ टूट पड़ता है। उससे कहा जाता है यदि तुम घर एवं बाहर दोनों संभाल सकती हो। तो संभालो नहीं तो नौकरी छोड़ दो। लेकिन तुम्हें घर का हर काम, हर जिम्मेदारी संभालना है। जो लड़की अपने पिता के घर में एक झूठा बर्तन साफ नहीं करती थी। उस लड़की को अपने ससुराल आकर हर किसी की फरमाइश पूरी करनी होती है।

लाइफ में कुछ भी आजीवन के लिए नहीं रहता है। परिस्थितियां बदलने में थोड़ा वक्त लगता है। लेकिन बदलते वक्त के साथ जो खुद को बदल देता है। वही सबसे अच्छा व्यक्ति होता है। हर लड़की को अपने जीवन में शादी के बाद थोड़ा एडजस्टमेंट करना होता है। आपकी खुशी भी उतनी ही ज्यादा महत्व रखती है। जितना कि औरों की। 

इसलिए अपनी खुशियों को मारकर कभी भी जरूरत से ज्यादा एडजस्ट ना करें। जरूरत पड़े तो इस मामले में अपनी पति से चर्चा कीजिए। उनसे निवारण मांगे। यदि वह आपका सपोर्ट करेंगे। तो फिर आपको किसी भी प्रकार की कोई चिंता करने की आवश्यकता नहीं होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.