इतिहासटेक्नोलॉजीबिजनेसमनोरंजनमहिला स्वास्थरिलेशनशीपलाईफ स्टाइलसंबंध

मेरा एक स्टुडेंट मुझे प्यार भरे मैसेज भेजता है। क्या करूं?

मैं शादीशुदा महिला हूं। प्रोफेसर हूं। कॉलेज में पढ़ाती हूं। मेरा एक स्टुडेंट मुझे प्यार भरे मैसेज भेजता है। क्या करूं?

आप एक शादीशुदा औरत है और यह बहुत अच्छी बात है कि आप एक प्रोफेसर भी है। वहीं आपने हमसे यह जानने की कोशिश की है कि आपके कॉलेज में आप ही का एक स्टूडेंट आप को प्यार भरा मैसेज भेजता है। ऐसे में आपको समझ नहीं आ रहा है कि आप उसके मैसेज का जवाब कैसे देगी या फिर आपको ऐसी परिस्थिति में क्या करना चाहिए।

यदि आपका कोई स्टूडेंट आपको संदेश भेज रहा है। तो उसे ऐसा करना ही नहीं चाहिए क्योंकि आप प्रोफेसर है

 उसकी दोस्त नहीं और यदि वह आपको बार-बार टेक्स्ट भेज रहा है। तो उसके लिए आपको ही कुछ उपाय निकालना होगा।

छात्र के मैसेज को इग्नोर कीजिए

सबसे पहली बात यह है कि आपका कोई छात्र आपको प्यार भरे मैसेज करता है। तो उसके मैसेज का कोई भी रिप्लाई ना दे क्योंकि अगर आप उसके प्यार भरे मैसेज का गुस्से से या फिर प्यार से भी रिप्लाई देंगी। तो वह फिर भी आपको मैसेज करता रहेगा। अगर आप उसके मैसेज को इग्नोर करेंगी। तो वह ज्यादा से ज्यादा महीने 2 महीने आपको मैसेज भेजेगा। लेकिन जब वह देखेगा की आप कोई रिप्लाई नहीं दे रही है। तो वह धीरे-धीरे आप को प्रेम भरा संदेश भेजना ही बंद कर देगा और वह फिर किसी और को वह संदेश भेजना आरंभ कर देगा।

यदि छात्र ज्यादा मैसेज भेजे तो उसे एक बार वार्निंग भी दीजिएगा

कॉलेज में पढ़ने वाला हर विद्यार्थी नाबालिक ही होता है और यदि आप का स्टूडेंट बार-बार आपको मैसेज कर परेशान करता है। तो आप उसके खिलाफ एक्शन ले सकती हैं। लेकिन एक्शन लेने से पहले उसे वार्निंग जरुर दीजिएगा कि तुम जिस तरीके से मुझे प्यार भरे संदेश भेजते हो। ऐसा भेजना एक क्राइम है अगर तुम मुझे मैसेज भेजना बंद नहीं करोगे। तो मैं तुम्हारे खिलाफ एक्शन लूंगी और वह एक्शन का असर तुम्हारे जीवन पर पड़ सकता है। यहां तक कि तुम्हारी कॉलेज लाइफ की यात्रा भी समाप्त हो सकती है। इसलिए मुझे मैसेज करना बंद कर दो क्योंकि अगर तुम मैसेज करना बंद नहीं करोगे। तो मुझे मजबूरन तुम्हारी शिकायत करनी होगी इसका परिणाम तुम्हें भुगतना पड़ सकता है।

डर से आप का स्टूडेंट को मैसेज करना बंद कर देगा

कई बार स्टूडेंट जब अपने टीचर को प्यार भरा संदेश भेजते हैं। जब वह टीचर से वार्निंग की खबर सुनते हैं। तो वह अपने करियर के बारे में सुनकर मैसेज करना बंद कर देते है। आप का स्टूडेंट भी आपको मैसेज करना बंद कर देगा। आगे से ध्यान रखिएगा कि किसी भी विद्यार्थी को अपना पर्सनल नंबर ना देने की।

निष्कर्ष

स्कूल कॉलेज में अक्सर विद्यार्थी अपने शिक्षकों को प्यार भरे मैसेज चिट्ठी ग्रीटिंग्स बना कर देते रहते हैं। लेकिन स्कूल के बच्चे और कॉलेज के बच्चे में बहुत फर्क होता ह।  स्कूल का बच्चा ना समझ होता है। लेकिन जब उसे समझ आती है। तो वह वैसा करना बंद कर देता है।

लेकिन कॉलेज में पढ़ने वाला बच्चा नादान नहीं होता। वह सब कुछ सीख कर ही कॉलेज में प्रवेश करता है। इसलिए उस बच्चे से डरने की जरूरत नहीं है। लेकिन खुद की सावधानी बरतनी भी जरूरी है एवं एक प्रोफेसर के नाते आपकी भी कुछ क्षमता है। जिस क्षमता का प्रयोग कर आप उस स्टूडेंट को रेस्टीक्रेट  करवा सकती हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *